नई दिल्ली : गुजरात के अहमदाबाद में निजी अस्पताल में आग लगने से कम से कम 8 लोगों की मौत हो गई, यह हादसा गुरुवार तड़के क़रीब 3 बजे हुआ, हादसे के बाद मौक़े पर दमकल की गाड़ियाँ पहुँचीं और आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू किया, काफ़ी प्रयास के बाद आग पर काबू पा लिया गया, इस हादसे पर पीएम मोदी ने कहा है कि वह घटना से आहत हैं, उन्होंने कहा कि प्रशासन इस घटन में प्रभावित हुए लोगों को हर संभव सहायता उपलब्ध करा रहा है, पीएम कार्यालय ने कहा है कि मृतकों के परिजनों और घायलों को आर्थिक सहायता दी जाएगी.

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि यह हादसा अहमदाबाद के नवरंगपुरा क्षेत्र में श्रेय हॉस्पिटल में हुआ, हादसे के बाद क़रीब 40 मरीज़ों को सुरक्षित बाहर निकाला गया और सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, ‘पीटीआई’ की रिपोर्ट के अनुसार मृतकों में वे लोग हैं जो आईसीयू वार्ड में भर्ती थे, घटना को लेकर पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘अहमदाबाद में अस्पताल में आग लगने की घटना से दुखी हूँ, शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना, घायलों के जल्द ठीक होने की कामना, सीएम रूपानी और मेयर बिजाल पटेल से स्थिति के बारे में बात की, प्रशासन प्रभावितों को हर संभव सहायता प्रदान कर रहा है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि मृतकों में 5 पुरुष और 3 महिलाएँ हैं, मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि सभी मरीज कोरोना पॉजिटिव हैं, हालाँकि अभी तक अस्पताल की ओर से इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है, बताया जा रहा है कि 40 मरीजों को अस्पताल के दूसरे वार्ड में शिफ्ट किया गया है, आईएमगुजरात डॉट कॉम वेबसाइट के अनुसार आग अस्पताल के चौथे फ्लोर पर आईसीयू वार्ड में आग लगी, शुरुआती रिपोर्ट में आग की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है.

हादसे के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने आर्थिक मदद की घोषणा की, इसने ट्वीट किया, ‘अहमदाबाद के अस्पताल में आग से मारे गए लोगों को पीएमएनआरएफ़ से 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हज़ार रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी,’ इधर सीएम ने हादसे की जाँच के आदेश दिए हैं और इसके लिए ज़िम्मेदारों का पता लगाने के लिए कहा है, सीएम कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘ सीएम विजयभाई रूपानी ने निर्देश दिया है कि अहमदाबाद के नवरंगपुरा इलाके में श्रेय अस्पताल में आग लगने की तुरंत जाँच की जाए और 3 दिनों में रिपोर्ट सौंपा जाए कि यह घटना कैसे हुई और इसके ज़िम्मेदार कौन हैं.

रिपोर्ट सोर्स, पीटीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here