नई दिल्ली : “हाथरस पीड़िता की मौत के बाद से पूरे देश में उबाल है, साथ ही हाथरस दुष्कर्म की घटना को लेकर राहुल गांधी आक्रामक है, राहुल एवं प्रियंका गांधी दो दिन पहले ही पीड़िता के परिजनों से मिलने हाथरस के लिए निकले थे, तब योगी पुलिस ने दोनों को ग्रेटर नोएडा के परी चौक में रोक लिया था और वापस दिल्ली भेज दिया था.”

राहुल गांधी आज फिर हाथरस के लिए रवाना होंगे, राहुल गांधी ने हाथरस जाने का ऐलान करते हुए कहा है कि दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती, राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि इस प्यारी बच्ची और उसके परिवार के साथ यूपी सरकार और उसकी पुलिस की ओर से किया जा रहा व्यवहार मुझे स्वीकार नहीं, किसी भी हिंदुस्तानी को ये स्वीकार नहीं करना चाहिए.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

बताया जाता है कि वे दोपहर के समय हाथरस के लिए निकलेंगे, उनके साथ कांग्रेस सांसदों का एक दल भी जाएगा, राहुल गांधी के नेतृत्व में यह प्रतिनिधिमंडल पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर उनका दर्द साझा करेगा, कांग्रेस ने पीड़ित परिवार को न्याय से वंचित रखने का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार पीड़िता के परिजनों को भारी पुलिस बल की तैनाती कर और मीडिया को भी रोक कर हताश करने की कोशिश कर रही है.

गौरतलब है कि हाथरस की घटना को लेकर यूपी सरकार के खिलाफ राहुल गांधी ने सोशल मीडिया पर मोर्चा खोल रखा है, गांव में भारी पुलिस बल की तैनाती से लेकर गांव की सीमा सील किए जाने, राहुल ने हर एक विषय पर ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी और सीएम योगी के नेतृत्व वाली यूपी सरकार को घेरा, वहीं, प्रियंका गांधी ने भी हाथरस की पीड़िता के लिए दिल्ली के वाल्मीकि मंदिर में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत की थी.

बता दें कि राहुल अभी दो दिन पहले भी बहन प्रियंका के साथ हाथरस के लिए निकले थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें ग्रेटर नोएडा के परी चौक इलाके में ही रोक दिया और गिरफ्तारी के बाद वापस दिल्ली भेज दिया था, इस दौरान हाथरस जाने की जिद पर अड़े राहुल गांधी, उनके समर्थकों और पुलिस के बीच तीखी तकरार भी हुई थी, राहुल गांधी धक्का लगने से गिर भी गए थे, भाजपा ने इसे फैशन परेड बताते हुए तंज किए थे.

ब्यूरो रिपोर्ट, दिल्ली

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here