लखनऊ (यूपी)  : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि इधर एक माह से मुख्यमंत्री जी दूसरे राज्यों में निरर्थक कसरत में व्यस्त हैं, वहां उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था के ढोल पीटते नहीं थकते हैं लेकिन यहां हालात भयावह हो चले हैं।

गत 4 सालों से उत्तर प्रदेश सरकार अपराध के नए कीर्तिमान स्थापित कर रही है। जनता का ध्यान हटाने को भाजपा सरकार आंकड़ों की फसल उगाने का प्रयास तो करती है पर अब उसके खेत ऊसर हो चुके हैं और झूठ चल नहीं पा रहा है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

मुख्यमंत्री जी रामराज की बात करते हैं परन्तु रामनगरी अयोध्या में महंत तक सुरक्षित नहीं। साधु संतो के उत्पीड़न के साथ वहां तमाम मठ-मंदिरों को भी ध्वस्त किया जा रहा है। स्थानीय व्यापारियों-दूकानदारों के कारोबार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं?

भाजपा राज में दबंगों को कानून का डर नहीं रह गया है। गोण्डा में दबंगों की धमकी से डरकर दलित मां-बेटी ने फांसी लगा ली। आगरा में भाइयों का विवाद सुलझाने गए दारोगा की दुस्साहसपूर्ण हत्या कर दी गई। कानपुर में युवती का अपहरण कर गैंगरैप किया गया फिर उसकी निर्मम हत्या हो गई।

बरेली में भाई के साथ जा रही छात्रा का अपहरण हो गया। बेटियां अपराध की शिकार हो रही हैं और भाजपा सरकार उनके कल्याण के झूठे प्रचार में लगी है।

प्रधानमंत्री जी के अति विशिष्ट निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में थाने के पास फल विक्रेता की हत्या। इसी जनपद के रोहनिया थाना क्षेत्र में प्रापर्टी डीलर नारायण दत्त तिवारी की ताबड़तोड़ गोली मारकर हत्या कर दी गई। बाराबंकी में युवती की हत्या, मुरादाबाद में युवती से दुष्कर्म।

कन्नौज में घर में घुसकर किशोरी से दुष्कर्म। कन्नौज में युवक की हत्या कर शव झांडि़यों में फेंका। मथुरा में आगरा एक्सप्रेस-वे पर दिल्ली से महोबा जा रही बस को हथियारबंद बदमाशों ने हाईजैक कर यात्रियों से लूट-पाट, दहला देने वाली वारदात है।

लखनऊ के इटौंजा में छेड़छाड़ से परेशान छात्रा ने तिलक के दिन फांसी लगाकर जान दे दी। राजधानी के ही अलीगंज क्षेत्र में रेलवे लाइन के किनारे एक बैग में नवजात शिशु का शव मिला जिसे कुत्ते नोच रहे थे। झांसी में दूध लेकर लौट रही 8 वर्ष की बालिका की नृशंस हत्या कर दी गई। सरधना मेरठ में छात्रा का अपहरण, गैंगरेप के बाद ज़हर देकर मौत की नींद सुला दिया गया।

भाजपाइयों की मानवीय संकटों में संवेदनहीनता तो जगजाहिर है। भाजपा ने जिस गोमाता के नाम पर वोट मांगे और गंगा मइया की कसमें खाई। सत्ता हासिल करने के बाद अब तो उनकी कोई खैर-ख़बर तक नहीं लेती है। ग्रेटर नोएडा में संचालित गौशाला में भूख-प्यास से तड़प-तड़प कर दम तोड़ते गोवंश की तस्वीर दिल को विचलित करती है।

भाजपा राज में घट रही ये घटनाएं समाज में खौफ पैदा करती है। ‘‘महिलाओं पर बढ़ता अत्याचार! नहीं चाहिए भाजपा सरकार!‘‘ सवाल यह है कि भाजपा राज में दिल दहलाने वाली घटनाएं कब थमेंगी? 

अब प्रदेश के जन-जन को यह एहसास हो चला है कि भाजपा के सत्ता में रहते न तो कानून व्यवस्था की स्थिति सुधर सकती है और नहीं महिलाओं, गरीबों का मानसम्मान सुरक्षित रह सकता है। भाजपा की सत्ता से बेदखली होने और 2022 में समाजवादी सरकार बनने पर ही जनता को राहत मिलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here