नई दिल्ली: कर्नाटक में मन को झकझोड़ने वाली एक घटना सामने आई है, जिससे यह पता चलता है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के दौर में हम कितने संवेदनहीन हो गए हैं, बेल्लारी ज़िले में कोरोना से मारे गए 8 लोगों के शवों को प्लास्टिक में लपेट कर एक बड़े गड्ढे में फेंक दिया गया, इस घटना की पुष्टि करते हुए एस. एस. नकुल ने कहा कि शवों को प्लास्टिक में लपेटना कोरोना दिशा-निर्देशों के अनुकूल ही है, पर इसका एक मानवीय पहलू भी है और उस पक्ष की जाँच की जा रही है,

उन्होंने कहा, हम इस मामले की जाँच कर रहे हैं, आप वीडियो को देखें तो पाएंगे कि शवों को ठीक से पैकेज किया गया है, नकुल ने इसके आगे कहा हमें मानवीय पहलू पर विचार करना है, इसलिए ही जाँच का आदेश दिया गया है, यह सच है कि हमें शवों से मानवीय व्यवहार करने के बारे में भी जागरुकता बढ़ाने की ज़रूरत है, उन्होंने कहा कि ‘हर शव की अंत्येष्टि अलग-अलग की जानी चाहिए थी, शवों के इस तरह अंतिम संस्कार करने वाली टीम को हटा दिया गया है, प्रशिक्षित किए गए लोगों की नई टीम बनाई जा रही है,’ इसके साथ ही ज़िला प्रशासन ने इन मृतकों के परिजनों से माफ़ी भी माँगी है,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

सीएम येदियुरप्पा ने इस व्यवहार को ‘अमानवीय और दर्दनाक’ क़रार दिया और अपील की कि वे कोरोना से मारे गए लोगों के शवों से अच्छा सलूक करें और उनकी अंत्येष्टि ठीक से करें, इस घटना पर राजनीति भी शुरू हो चुकी है, मुख्य विपक्ष जनता दल सेक्युलर ने सरकार की तीखी आलोचना करते हुए ट्वीट किया, ‘सावधान! यदि आपकी या आपके किसी परिजन की मौत कोरोना से हुई तो बीजेपी की सरकार शव के साथ ऐसा ही सलूक करेगी, आपके शव को दूसरे कई शवों के साथ एक ही गड्ढे में फेंक देगी,’

जनता दल सेक्युलर ने तंज करते हुए कहा, ‘सरकार मीडिया में रोज़ाना अच्छी तरह से नियोजित जिस कोरोना प्रबंधन की बात करती है, वह यही है,’ इसके पहले आंध्र प्रदेश का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें देखा ज सकता था कि एक शव को मिट्टी काटने वाली बड़ी मशीन से घसीट कर ले जाया जा रहा है,

इसी तरह पुड्डुचेरी के एक वीडियो में देखा गया था कि पीपीई पहने हुए चार लोगों ने एक शव को गड्ढे में फेंक दिया और उसके बाद एक दूसरे आदमी ने ‘थम्स अप’ कर इस पर शाबाशी दी थी, केंद्र सरकार ने मार्च महीने में ही कोरोना से जुड़े दिशा-निर्देश जारी किए थे, इसमें कहा गया था कि कोरोना से मारे गए लोगों के शवों को प्लास्टिक के बॉडी बैग में रख कर ले जाया जाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here