नई दिल्ली: कुछ मीडिया हाउसों द्वारा कोरोना महामारी को लेकर चलाई जा रही फेक खबरों को लेकर माननीय सुप्रीम कोर्ट का सख्त नजरिया स्वागत योग्य है। मौलाना अरशद मदनी ने कहा कि देश में जिस तरह से कोरोना की आड़ में कुछ तथाकथित मीडिया संस्थान अपने धार्मिक उन्माद एजेंडे को चला रहे है उससे राष्ट्रीय एकता और भाईचारे को खतरा पैदा होने का डर बढ़ गया है। मौलाना मदनी ने कहा कि हमने अपनी इसी सोच को माननीय सुप्रीम कोर्ट के सामने रखने का प्रयास किया और मुझे खुशी है कि कोर्ट कि सख्ती से फेक खबरों पर रोक लगेगी। 

मौलाना मदनी ने उन राज्य सरकारों की सराहना करते हुए कहा कि जिस तरह से प्रशासन फेक खबरों को संज्ञान में ले रहा है वो स्वागत योग्य है। वर्तमान में देश कोरोना महामारी से लड़ रहा है और आपदा के इस संकट मे धार्मिक उन्माद फैलाना राष्ट्रीय एकता और मानवता के खिलाफ है। 

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

अंत में मौलाना मदनी ने कहा कि हम सब को एकजुट होकर राष्ट्रीय आपदा की इस घड़ी में एक दूसरे के हौसले को बढ़ाना है जिससे कि हम इस महामारी से उबर सके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here