Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home भारत मौलाना अरशद मदनी ने कहा- 'हज से संबंधित सऊदी सरकार का फैसला...

मौलाना अरशद मदनी ने कहा- ‘हज से संबंधित सऊदी सरकार का फैसला उचित और सराहनीय फैसला है’

नई दिल्ली: जमीअत उलमा-ए-हिन्द के अध्यक्ष मौलाना सैयद अरशद मदनी ने खादिमे हरमैन खादिम मलिक सलमान बिन अबदुलअजीज़ द्वारा हज 2020 को स्थगित नहीं बल्कि संक्षेप करने का स्वागत करते हुए कहा कि यह एक उचित फैसला है जो सराहनीय है, उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में इस बात को लेकर लोगों के मन में यह आशंकाएं लगातार पैदा हो रही थीं कि खुदा न करे कोरोना जैसी घातक बीमारी को ध्यान में रखते हुए इस साल हज को स्थगित न कर दिया जाए, लेकिन अब जो यह फैसला आया है इस से हमें बहुत प्रसन्नता हुई है कि कुछ शर्तो के साथ इस साल भी हज होगा और सऊदी अरब में पहले से रह रहे मुसलमानों को भी यह सआदत हासिल हो सकती है चाहे उनका संबंध किसी भी देश से हो।

उन्होंने यह भी कहा कि वर्तमान स्थिति में जब पूरी दुनिया और खुद सऊदी अरब कोरोना जैसी घातक बीमारी से पीड़ित है इससे उचित कोई अन्य फैसला नहीं हो सकता था। मौलाना मदनी ने कहा कि कोरोना के घातक होने और इस बीमारी के वैश्विक महामारी का रूप लेने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग की शर्तों ने बहुत सी चीजों को सीमित कर दिया है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने लोगों को एक जगह जमा होने से रोक दिया है, जिसके बाद सऊदी सरकार को इस तरह का फैसला करना पड़ा, जो सराहनीय है और सऊदी सरकार के इस फैसले ने लोगों के दिलों में इस साल के हज को लेकर पैदा होने वाली आशंकाओं को भी दूर कर दिया है। खुद सऊदी अरब इस महामरी से सुरक्षित नहीं है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

स्पष्ट रहे कि अरब न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार 22 जून तक सऊदी अरब में, जिसकी जनसंख्या 2018 की जनगणना के अनुसार 3 करोड़ 37 लाख है, अब तक एक लाख 61 हज़ार लोग कोरोना से पीड़ित हो चुके हैं, जिनमें से 1307 लोगों की मृत्यु हो चुकी है और प्रतिदिन पीड़ितों की संख्या में वृद्धि हो रही है। मौलाना मदनी ने कहा कि इस्लाम का यह स्पष्ट संदेश है कि बीमारी से न केवल खुद बचें बल्कि दूसरों को भी इससे बचाएं और आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम का फरमान है कि अगर आप किसी महामारी वाली जगह पर हैं तो वहां से न निकलें और बीमारी वाली जगह से दूर हैं तो वहां हरगिज न जाएं।

चूंकि कोरोना एक वैश्विक महामारी है और अब तक इसका कोई उपचार सामने नहीं आया है, सावधानी ही इसका एकमात्र उपचार है। ऐसे में सऊदी सरकार का यह फैसला बहुत महत्वपूण है। मौलाना मदनी ने अंत में कहा कि पूरी दुनिया कोरोना जैसी महामारी के आगे विवश दिखाई देती है। ऐसे में हम दुआ करते हैं कि अल्लाह तआला पूरी दुनिया और विशेषकर हरमैन शरीफैन को इस घातक बीमारी से जल्द से जल्द राहत दे और इस महामारी को समाप्त करे। आमीन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

डाॅ. जोगिंदर के परिजनों को एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी, भविष्य में भी परिवार की हर संभव मदद करेंगे : CM केजरीवाल

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज डाॅ. बाबा साहब अंबेडकर मेडिकल हाॅस्पिटल एंड काॅलेज में एड-हाॅक पर जूनियर रेजिडेंट रहे कोरोना...

गुजरात : पत्रकार कलीम सिद्दीकी को तड़ीपार का नोटिस, देश भर में हो रही है आलोचना, बोले कलीम- ‘नोटिस कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह’

ऩई दिल्ली/अहमदाबाद : 30 जुलाई को पत्रकार कलीम सिद्दीकी अहमदाबाद शहर के एसीपी कार्यालय में उपास्थि हो कर तड़ीपार मामले में अपना...

बिहार: तेज प्रताप यादव ने किया बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा, बोले- ‘CM का सारा सिस्टम हो गया फेल, बिहार की जनता बेहाल’

नई दिल्ली/बिहार: बिहार इस समय दो-दो आपदाओं की मार झेल रहा है, कोरोना के साथ ही बाढ़ से त्राहिमाम मचा हुआ है,...

भोपाल : बोले दिग्विजय सिंह- “राम मंदिर का शिलान्यास कर चुके हैं राजीव गांधी”

नई दिल्ली/भोपाल : राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यस के मुहूर्त को लेकर सवाल उठाए हैं, उन्होंने 5...

सहसवान : नगर अध्यक्ष शुएब नक़वी आग़ा ने मनाया रक्षा बंधन पर्व, पेश की गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल

सहसवान/बदायूँ (यूपी) : रक्षाबंधन पर्व की यही विशेषता है कि यह धर्म-मज़हब की बंदिशों से परे गंगा-जमुनी तहज़ीब की नुमाइंदगी करता है,...