नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी एमसीडी चलाने में पूरी तरह असफल रही है और उसे नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए, ताकि दिल्ली की जनता एक ईमानदार सरकार चुन सके।

 दोबारा चुनाव होने पर दिल्ली की जनता भाजपा से अपनी तमाम परेशानियों का बदला ले सकेगी और ईमानदार लोगों को एमसीडी की सत्ता सौंप सौंपेगी, ताकि दिल्ली की साफ-सफाई समेत सभी काम सुचारू रूप से हो सकें।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पाठक ने कहा कि यह सोचने वाली बात है कि एमसीडी के तमाम कर्मचारियों को अपने वेतन के लिए बार-बार हड़ताल पर क्यों जाना पड़ रहा है, क्योंकि भाजपा नेताओं ने 15 साल में एमसीडी को लूट कर कंगाल कर दिया है। एक तरफ भाजपा के नेता और पार्षद भ्रष्टाचार करके पैसे बना रहे हैं और दूसरी तरह एमसीडी के कर्मचारी दिन-ब-दिन भुखमरी के कगार पर जा रहे हैं।

भाजपा शासित नगर निगम के अधीन आने वाले तमाम विभागों के कर्मचारी जैसे डॉक्टर, नर्स, अध्यापक, सफाई कर्मचारी एवं माली आदि कल से एक बार फिर हड़ताल पर चले गए हैं। इस पर आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि यह तमाम कर्मचारी नगर निगम में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी की सरकार से केवल एक ही मांग कर रहे हैं कि हम लोग दिन- रात काम करते हैं, अपना काम पूरी ईमानदारी के साथ करते हैं, तो हमें हमारा वेतन समय पर मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन कर्मचारियों की मांग कोई नाजायज तो नहीं है।

दुर्गेश पाठक ने कहा कि सोचने वाली बात यह है कि आखिर ऐसी परिस्थितियां क्यों आ रही हैं कि भाजपा शासित नगर निगम के तमाम विभागों के कर्मचारियों को अपने हक का पैसा, अपना वेतन लेने के लिए बार-बार हड़ताल का सहारा लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों से नगर निगम में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है।

के निगम पार्षदों ने और नेताओं ने नगर निगम को लूट-लूट कर इस कदर कंगाल कर दिया है कि आज भारतीय जनता पार्टी नगर निगम के अधीन काम करने वाले कर्मचारियों का वेतन तक नहीं दे पा रही है। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो नगर निगम के माध्यम से भाजपा के निगम पार्षद अवैध तरीके से करोड़ों रुपए कमा रहे हैं, हर योजना में भाजपा के निगम पार्षद और नेता भ्रष्टाचार कर रहे हैं  और खूब पैसा बना रहे हैं। नगर निगम में  किसी भी योजना की फाइल उठाकर देख लो आपको कोई न कोई भ्रष्टाचार  मिल ही जाएगा। वहीं दूसरी ओर नगर निगम के अधीन काम करने वाले कर्मचारी दिन-ब-दिन भुखमरी के कगार पर आ गए हैं।

दिल्ली की जनता ने भाजपा को नगर निगम की सत्ता सौंपी थी, ताकि वह दिल्ली की साफ सफाई का ध्यान रख सके, सड़कों का, नालियों का, पार्कों का रखरखाव कर सकें। परंतु आज आप दिल्ली के किसी भी कोने में, किसी भी गली में, किसी भी सड़क पर चले जाइए, आपको जगह-जगह कूड़े के ढेर नजर आ जाएंगे, नालियां गंदगी से भरी पड़ी है। भारतीय जनता पार्टी अपनी प्राथमिक जिम्मेदारी को निभाने में पूरी तरह से फेल साबित हुई है।

दुर्गेश पाठक ने कहा कि जो हालत आज दिल्ली नगर निगम की भारतीय जनता पार्टी ने कर दी है, उसको देखते हुए ऐसा लगता है कि भारतीय जनता पार्टी से नगर निगम संभाला नहीं जा रहा। उन्होंने कहा कि नैतिकता के आधार पर अब भारतीय जनता पार्टी को नगर निगम की सत्ता से इस्तीफा दे देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि दोबारा से दिल्ली में नगर निगम के चुनाव होने चाहिए, ताकि दिल्ली की जनता ईमानदार लोगों को दिल्ली नगर निगम की सत्ता सौंप सकें और दिल्ली की साफ सफाई की, रखरखाव की जो जिम्मेदारी नगर निगम की है, वह सुचारू रूप से और सही तरीके से पूरी हो सके। यह भारतीय जनता पार्टी की असफलता का ही नतीजा है, कि निगम के कर्मचारियों को बार-बार हड़ताल पर जाना पड़ रहा है।

नगर निगम में नई सरकार बनेगी तो निगम के तमाम कर्मचारियों को समय पर उनका वेतन मिल सकेगा, कर्मचारियों के घर में जो चूल्हा बुझने की कगार पर आ गया है वह फिर से जल सकेगा, उनके बच्चों की पढ़ाई जो स्कूल की फीस जमा न होने के कारण रुकी हुई थी, वह फिर से शुरू हो सकेगी, उनके घर में जो बुजुर्ग हैं, उनका इलाज सुचारु रुप से हो सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here