नई दिल्ली: भारत में कोरोना का एपिक सेंटर बना महाराष्ट्र अब एक और आपदा की चपेट में आने वाला है, महाराष्ट्र और गुजरात के कई तटीय इलाकों से चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ टकराने वाला है, इन इलाकों में तेज़ बारिश शुरू हो गई है, हालांकि, प्रशासन ने निसर्ग तुफान से निपटने के लिए महाराष्ट्र में बड़ी तैयारी कर ली है, यहां इस आपदा से निपटने के लिए NDRF की 40 टीमें तैनात कर दी गईं हैं, मुंबई में तीन, रायगढ़ में चार, पालघर, ठाणे और रत्नागिरि में NDRF की दो-दो टीमों को तैनात किया गया है, वहीं गुजरात के दमन में भी इस तूफान की वजह से बारिश और तेज़ हवाएं चलना शुरू हो गई हैं, यहां से भी स्थानीय लोगों को सुरक्षित जगह शिफ्ट किया जा रहा है,

मौसम विभाग के अनुसार ‘निसर्ग’ तूफान महाराष्ट्र में सबसे पहले अलीबाग सीमा पर टकराएगा, बताया जा रहा है कि 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से यह तूफान महाराष्ट्र की तरफ बढ़ रहा है, अभी यह अलीबाग से लगभग 100 किमी की दूरी पर है, यह तूफान नासिक, मुंबई, पालघर, सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, रायगढ़, मुंबई और ठाणे जैसे तटीय इलाकों से टकराएगा, इसी को देखते हुए इन इलाकों से स्थानीय लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है, मुंबई पुलिस ने चक्रवात के मद्देनजर लोगों को तटों पर जाने से रोकने के लिये शहर में धारा 144 लगा दी है,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पीएम मोदी ने ‘निसर्ग’ तूफान को लेकर महाराष्ट्र और गुजरात के मुख्यमंत्रियों से बात की और उन्हें केन्द्र की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया, पीएम मोदी और गृहमंत्री ने मंगलवार को बैठक की, इस बैठक में पीएम मोदी ने साइक्लोन को लेकर गृहमंत्री और एनडीएमए, एनडीआरएफ के साथ तैयारियों की समीक्षा की, साथ ही निर्देश दिया कि केंद्र की ओर से राज्य को हर प्रकार की मदद दी जाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here