महोबा : मासूम बिलखते जा रहे थे, लेकिन मां दोनों को सीने से चिपकाए बस भागी जा रही थी, खेतों की ओर जाता देख लोग कुछ समझ पाते कि तब तक उसने कुएं में छलांग लगा दी, आनन फानन लोग उस ओर भागे, पुलिस की मदद से तीनों को बाहर निकाला जाता तब तक उनकी मौत हो चुकी थी, मासूम बच्चियों और मां का शव देखने वालों की आंखों से आंसू निकल आए.

खेतों पर जाकर कुएं में लगाई छलांग

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ग्राम सिजरिया थाना श्रीनगर में बलबीर अपनी पत्नी देव कुंवर उर्फ नेहा, दो बच्चियों तीन वर्षीय साक्षी व डेढ़ साल की बेटी तमन्ना के साथ रह रहा था, उसके साथ ही मां लीला भी रह रही है, शनिवार की दोपहर दोपहर सास बकरी चराने गई थी तभी नेहा अपनी दोनो बच्चियों को लेकर खेत पर पहुंची, नेहा ने दोनों मासूम बेटियों को सीने से चिपका कर पास में बने एक कुएं में छलांग लगा दी.

जानकारी होते ही लोगों की भीड़ लग गई और पुलिस को सूचना दी, अपर पुलिस अधीक्षक वीरेंद्र कुमार, सीओ सिटी जटाशंकर राव, थानाध्यक्ष वीर प्रताप सिंह मौके पर पहुंचे, पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से तीनों को बाहर निकलवाया लेकिन तब तक मां-बेटियों की मौत हो चुकी थी, एक साथ तीन शवों को देखकर गांव वालों की भी आखें नम हो गईं.

सामने आई ये वजह

पुलिस की जांच में सास-बहू के बीच विवाद के बाद घटना की बात सामने आई है, बताया गया है कि नेहा की मां का हाथ टूट गया था, उसके इलाज के लिए पति बलबीर शनिवार को आठ हजार रुपये देने अजनर ससुराल गया था, इस बात को लेकर सास लीला नाराज थी और दोपहर बाद सास-बहू में काफी बहस होती रही, कुछ देर बाद गुस्से में तमतमाई नेहा बेटियों को गोदी में लेकर खेत की ओर भागी और सास से कहा कि जात हौं बच्चन सहित कुआं मा कूद जाब.., पड़ोसी यह विवाद देख रहे थे लेकिन यह नहीं समझ सके कि मासूम के साथ मां इतना बड़ा कदम उठा लेगी, घटना की जानकारी पर बलबीर पहुंचा और मासूमों के शव देख बिलखता रहा, उसका तो संसार ही उजड़ गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here