नई दिल्ली: पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग के दो अधिकारी आज सुबह से लापता हैं, सुबह वो किसी काम की वजह से बाहर गए हुए थे लेकिन वापस नहीं आए, इसके बाद उच्चायोग के अधिकारियों ने विदेश मंत्रालय से संपर्क किया, खबरों के मुताबिक विदेश मंत्रालय ने इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के साथ काम करने वाले दो लापता भारतीय अधिकारियों के मामले को उठाया है, पाकिस्तान की तरफ से अभी तक कोई सफाई नहीं आई है,

खबरों के मुताबिक यह पाकिस्तान की भारत से बदला लेने की कोशिश भी हो सकती है क्योंकि हाल ही में एमआई की मदद से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली स्थित पाकिस्तानी हाई कमीशन से ऑपरेट हो रहे एक जासूसी रैकेट का भांडाफोड़ किया था, ये रैकेट हाई कमीशन में कार्यरत दो वीजा अधिकारी चला रहे थे जो दरअसल, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी, आईएसआई के एजेंट थे, इन दोनों अधिकारियों को भारत ने ‘पर्सोना नॉन ग्राटा’ करार देकर वापस पाकिस्तान भेज दिया था,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

गिलगित-बालटिस्तान में हाल ही में गिरफ्तार हुए दो कथित भारतीय जासूसों के मामले में भी एक बड़ा खुलासा हुआ है, दरअसल, ये दोनों कश्मीरी युवक हैं जो पहले आतंकी संगठन, हिजबुल मुजाहिद्दीन के लिए काम करते थे, साल 2018 से ही ये दोनों मिलिट्री-इंटेलिजेंस यानी एमआई के रडार पर थे, लेकिन हाल ही में ये दोनों गिलगित-बालटिस्तान गए थे, जहां पर हिजबुल मुजाहिद्दीन से इनका किसी बात पर मन-मुटाव हो गया था, जिसके बाद ही इन दोनों को भारतीय जासूस बताकर गिलगित-बालटिस्तान पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here