नई दिल्ली : पंजाब के मोगा में राहुल गांधी की ट्रैक्टर रैली में सिद्धू के भाषणों से सीएम कैप्टन और प्रभारी हरीश रावत नाराज हैं, इनकी नाराजगी का असर ये रहा कि सोमवार को संगरूर के ट्रैक्टर मार्च में सिद्धू नहीं पहुंचे, सूत्रों के मुताबिक पंजाब के पूर्व मंत्री ने रविवार को पंजाब के मोगा में राहुल की ट्रैक्टर रैली के दौरान अपनी बॉडी लैंग्वेज और दिए गए भाषण से सीएम कैप्टन और पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश को नाराज कर दिया.

दरअसल अपने भाषण में कैप्टन की मौजूदगी में ही सिद्धू ने किसानों को फसलों की एमएसपी देने को लेकर अपनी ही सरकार पर सवाल खड़े कर दिए, साथ ही जब हरीश रावत की तरफ से सिद्धू को उनकी स्पीच के दौरान कागज पर लिखकर कुछ संदेश भिजवाया गया तो इससे भी सिद्धू भड़क गए, हरीश रावत का संदेश लेकर आए मंच संचालक पंजाब के सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को उन्होंने मंच से ही झिड़क दिया और कहा, “आज मुझे मत रोको और मुझे बोल लेने दो, आप लोगों ने मुझे पहले भी बोलने नहीं दिया लेकिन अब तो बोल लेने दो.” 

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

जब सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इस मामले पर सिद्धू को सफाई दी कि वो तो सिर्फ हरीश रावत का संदेशा कागज पर लिखकर उन्हें देने आए हैं तो सिद्धू ने कहा कि, “घोड़े को इशारा ही काफी होता है बाकी किसी और को लातें मारना और आप लोगों ने मुझे पहले भी चुपचाप साइड पर बिठाए रखा है,” माना जा रहा है कि कैप्टन और हरीश रावत की नाराजगी की खबर सिद्धू तक पहुंच गई है, इसी वजह से नवजोत सिंह सिद्धू राहुल गांधी के ट्रैक्टर मार्च और संगरूर में की गई किसान रैली में शामिल नहीं हुए.

ब्यूरो रिपोर्ट, पीटीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here