नई दिल्ली : विधायक राघव चड्ढ़ा को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में ले लिया, NDMC में घोटाले को लेकर चड्ढ़ा आज गृहमंत्री के घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे, उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

चड्ढ़ा ने कहा कि, “जनता के चुने हुए प्रतिनिधि होने के बावजूद हमें उपराज्यपाल से मिलने नहीं दिया गया, गृहमंत्री से मिलने नहीं दिया गया और उनके घरों के आगे शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोक दिया गया.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

क्या लोकतंत्र में ऐसा कहीं होता है? शांतिपूर्ण प्रदर्शन का अधिकार देश के हर नागरिक को है, मैं देश के संविधान द्वारा मुझे मिले इस अधिकार का प्रयोग कर रहा था.”

चड्ढ़ा ने कहा कि, “दिल्ली के इतिहास में ये सबसे बड़ा घोटाला है, ये तथाकथित घोटाला, कॉमनवेल्थ घोटाले से भी बड़ा है, MCD में 2500 करोड़ रुपए का तथाकथित घोटाला हुआ है, ये पैसा हमारी जनता का पैसा है.

टैक्सपेयर्स का पैसा है, उन कर्मचारियों का पैसा है जिन्हें MCD वेतन नहीं दे रही है, इस पैसे का इस्तेमाल सफाई कर्मचारियों, डॉक्टर्स और नर्सेज के वेतन भुगतान के लिए किया जा सकता था.

चड्ढ़ा के उस आवेदन को भी खारिज कर दिया था जिसमें उन्होंने शाह के घर के बाहर शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अनुमति मांगी थी.

चड्ढ़ा ने BJP से सवाल पूछते हुए कहा कि, “अब साफ हो चुका है कि इस तथाकथित घोटाले में बहुत बड़े-बड़े लोग शामिल है और BJP इन बड़े लोगों को बचाना चाहती है, ये लोग कौन हैं? BJP इन्हें क्यों बचाना चाहती है?”

पुलिस के द्वारा हिरासत में लिए जाने राघव चड्ढ़ा ने कहा कि, “अगर लोकतांत्रिक तरीके से चुने गए CM केजरीवाल के घर के बाहर BJP को प्रदर्शन की अनुमति मिल सकती है तो प्रदर्शन का ये अधिकार हमें क्यों नहीं दिया जा रहा है?”

चड्ढ़ा ने कहा कि, “2500 करोड़ का तथाकथित घोटाला करने के बाद BJP के सदस्य CM आवास के बाहर धरने पर बैठे हैं और कह रहे हैं कि हमें और पैसा दो ताकि हम और भ्रष्टाचार कर सकें, मैं दिल्ली के लोगों से पूछना चाहता हूं क्या ये भ्रष्टाचार जारी रहना चाहिए? क्या BJP शासित MCD को ये भ्रष्टाचार जारी रखने के लिए और पैसा देना चाहिए?”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here