नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए जा रहे कोरोना से मरने वालों के आंकड़ों को दिल्ली हाईकोर्ट ने सही ठहराया है। दिल्ली हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार द्वारा मरने वालों के जारी किए गए आंकड़ों के खिलाफ एक याचिका दायर की गई थी। हाईकोर्ट ने याचिका को खारिज करते हुए स्पष्ट किया है कि दिल्ली सरकार की डेथ आॅडिट कमिटी अपने आप में पूरी तरह से सक्षम है और एकदम सही आंकड़े पेश कर रही है। पार्टी प्रवक्ता राघव चड्ढा ने मृत्यु के आंकड़े छिपाने का आरोप लगाने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को दिल्ली सरकार और दिल्ली की जनता से माफी मांगने को कहा है। उन्होंने कहा कि इस महामारी के समय में भी भारतीय जनता पार्टी ने गंदे, झूठे और निराधार आरोप लगाकर आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार पर कीचड़ उछालने का काम किया है। इसके लिए दिल्ली की जनता उनको कभी माफ नहीं करेगी।

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने एक बयान जारी कर कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट ने एक बेहद महत्वपूर्ण फैसले के जरिए यह साफ तौर पर कहा है कि दिल्ली सरकार की डेथ आॅडिट कमिटी, जो आंकड़े जारी कर रही है कि कितने लोग इस बीमारी से संक्रमित होकर दिल्ली में मरे। डेथ आॅडिट कमिटी अपने आप में पूरी तरह से सक्षम है और एकदम आंकड़े ठीक पेश कर रही है। दिल्ली सरकार के मरने वालों के आंकड़ों को लेकर और उसके खिलाफ एक याचिका दायर की गई थी। हाईकोर्ट ने उस याचिका को खारिज कर दिया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने बड़े स्पष्ट शब्दों में कहा है कि यह जो आरोप हैं कि दिल्ली सरकार की डेथ आॅडिट कमिटी मरने वालों की आंकड़े छिपा रही है या गलत आंकड़े दे रही है। यह सभी आरोप निराधार हैं और साफ तौर पर कोर्ट ने डेथ आॅडिट कमिटी को सक्षम घोषित किया है। कोर्ट ने यह भी कहा है कि किसी भी प्रकार के डिसक्रीमिनेशन (भेदभाव), आर्बिटरीनेस (मध्यस्थता) या मरने वालों के आंकड़ों से छेड़छाड़ दिल्ली सरकार ने नहीं की है। यानी की दिल्ली सरकार मरने वालों के जो आंकड़े जारी कर रही है, वह बिल्कुल सही जारी कर रही है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

पार्टी प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि इस आपात काल की स्थिति में मानवता पर इस महामारी का जो इतना बड़ा प्रकोप छाया हुआ है। इस महामारी के समय में भारतीय जनता पार्टी ने यह जो गंदे, झूठे और निराधार आरोप लगाने का काम किया है। इस महामारी के समय भी आम आदमी पार्टी पर कीचड़ उछालने का काम किया है। इसके लिए दिल्ली की जनता उनको कभी भी माफ नहीं करेगी। राघव चड्ढा ने भारतीय जनता पार्टी के सभी नेताओं से से कहा कि वे अब वे अपनी गलती स्वीकार करते हुए दिल्ली सरकार और दिल्ली की जनता से इन झूठे आरोप लगाने के लिए माफी मांगें। क्योंकि आज दिल्ली हाईकोर्ट ने आपके उन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है और दिल्ली सरकार के आंकड़ों को सही ठहराया है।

दिल्ली में देश के अन्य राज्यों की तुलना में मरने वालों की दर कम- राघव चड्ढा

पार्टी प्रवक्ता राघव चड्ढा ने दिल्ली में बढ़ रहे कोरोना के केस के संबंध में कहा कि इस कोरोना की लड़ाई में सबसे महत्वपूर्ण आंकड़ा जो देखना चाहिए, वह मृत्यु दर है। यानी कि कितने लोग इस बीमारी से संक्रमित होकर अपनी जान गंवा रहे हैं। दिल्ली सरकार ने अथक प्रयास कर के कोरोना से मरने वालों की दर को बहुत हद तक कम करके रखा है। लोगों को अच्छा इलाज दिया है, अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं दी है। इससे मृत्यु दर को काफी हद तक संभालने की कोशिश की है और हम उसमें सफल भी हुए हैं। कितने लोग इस बीमारी से संक्रमित हुए, यह एक चिंता का विषय है, लेकिन कितने लोगों की जानें गईं, यह ज्यादा चिंता का विषय है और यह आंकड़ा कहीं न कहीं दिल्ली सरकार ने बखूबी देश के आंकड़ों के अनुसार और अन्य राज्यों के आंकड़ों के साथ तुलना करें, तो काफी कम रखा है। इसमें दिल्ली की पूरी स्वास्थ्य व्यवस्था की मेहनत रही है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का यही लक्ष्य है कि हम दिल्ली में किसी को मरने न दें। जो संक्रमित भी हो रहा है, वह जल्द से जल्द ठीक हो जाए। उस आंकड़ों पर हम लोग अपनी नजर बनाए हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here