नई दिल्ली : राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने उद्योगपतियों के खरबों रुपए माफ कर दिया, उनका दावा है कि जितने रुपये माफ किए गए हैं उतने में ’11 करोड़ परिवारों को 20-20 हज़ार रुपये मिल सकते थे.

बता दें कोविड-19 संकट काल के शुरुआती दौर में ही राहुल गांधी ने सरकार से बार-बार अपील की थी कि वह लोगों को कम से कम 10,000 रुपये की आर्थिक मदद करे, राहुल के इस प्रस्ताव का नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने भी समर्थन किया था.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

राहुल गांधी ने गुरुवार को ट्वीट किया कि – ‘23,78,76,0000000 रुपये का क़र्ज़ इस साल मोदी सरकार ने कुछ उद्योगपतियों का माफ़ किया.

इस राशि से कोविड के मुश्किल समय में 11 करोड़ परिवारों को 20-20 हज़ार रुपये दिए जा सकते थे, मोदी जी के विकास की असलियत!’

इससे पहले राहुल गांधी ने ने किसान संगठनों और सरकार के बीच नए दौर की बातचीत की पृष्ठभूमि में बुधवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश के किसान विश्वास नहीं करते.

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री के पूर्व के कुछ बयानों का हवाला देते हुए ट्वीट किया, ‘हर बैंक खाते में 15 लाख रुपये और हर साल दो करोड़ नौकरियां, 50 दिन दीजिए, नहीं तो.

हम कोविड-19 के खिलाफ 21 दिनों में युद्ध जीतेंगे, न तो कोई हमारी सीमा में घुसा है और न किसी चौकी पर कब्जा किया है.

राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ‘मोदी जी के ‘असत्याग्रह’ के लंबे इतिहास के कारण उन पर किसान विश्वास नहीं करते.

राहुल गांधी ने ट्विटर पर ऑनलाइन सर्वेक्षण के लिए एक प्रश्न भी पोस्ट किया और जवाब के लिए चार विकल्प दिए.

राहुल गांधी ने कहा, ‘पीएम कृषि कानूनों को निरस्त करने से इनकार कर रहे क्योंकि: वह किसान विरोधी हैं, उनको पूंजीपति चलाते हैं, अहंकारी हैं या फिर इनमें सभी सही है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here