नई दिल्ली : देश के कई राज्यों में सामने आ चुके बर्ड फ्लू के मामलों को लेकर अब दिल्ली के लिए एक राहत की खबर है.

दिल्ली की गाजीपुर मुर्गा मंडी से जालंधर भेजे गए 100 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं, इसका मतलब है कि इन सैंपल में बर्ड फ्लू की पुष्टि नहीं हुई है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

दिल्ली के संजय झील में बर्ड फ्लू की पुष्टि से पहले गाजीपुर मंडी से रैंडम सैंपल जालंधर भेजे गए थे, हालांकि अब भी एनिमल हसबैंडरी विभाग की टीम अलर्ट पर है और अलग-अलग इलाकों से रैंडम सैंपल जुटा रही है.

दिल्ली में कौवों और बत्तखों के नमूनों में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के तीन दिन बाद ये परिणाम आए हैं.

कौवों और बत्तखों के नमूनों में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद दिल्ली सरकार ने बीते सोमवार शहर के बाहर से लाए जाने वाले प्रसंस्कृत एवं पैकेटबंद चिकन की बिक्री पर रोक लगा दी थी, सरकार ने एहतियात के तौर पर 10 दिन के लिए पोल्ट्री बाजार भी बंद कर दिया था.

पशुपालन इकाई के वरिष्ठ अधिकारी राकेश सिंह ने कहा बुधवार को 104 नमूनों के परिणाम आए, इनमें 100 नमूने गाजीपुर मंडी में 35 पोल्ट्री पक्षियों के थे, सभी नमूनों के संक्रमित नहीं होने की पुष्टि हुई है.

उन्होंने कहा इसका अर्थ यह हुआ कि दिल्ली में पोल्ट्री पक्षियों में एवियन इंफ्लूएंजा नहीं फैला है,” सिंह ने बताया कि इसके अलावा, बगुलों के चार नमूने हस्तसाल पार्क से लिए गए थे और इनमें संक्रमण की पुष्टि होने की आशंका है.

गौरतलब है कि दिल्ली में बर्ड फ्लू की स्थिति को देखते हुए दिल्ली के तीनों नगर निगमों ने दुकानों और रेस्तरां के पोल्ट्री या प्रसंस्कृत ”चिकन” बेचने तथा रखने पर बुधवार को तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी.

अधिकारियों ने पहले कहा था कि कि मयूर विहार फेज-3, संजय झील और द्वारका सेक्टर 9 से लिए गए 10 नमूनों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई थी, संजय झील में सोमवार को बत्तखों को मारा गया, जहां कई बत्तखें मृत पाई गई थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here