नई दिल्ली : अभिनेता आमिर खान के तुर्की दौरे को लेकर आरएसएस ने निशाना साधा है, आरएसएस के मुखपत्र पांचजन्य में आमिर को लेकर एक आर्टिकल लिखा है, जिसमें आरएसएस ने कहा है कि आमिर ने तुर्की जाकर भारतवासियों की भावनाओं को ठेंगा दिखाया है, आमिर अपनी आने वाली फिल्म ‘लालसिंह चड्ढा’ की शूटिंग के लिए तुर्की गए थे, पांचजन्य में लिखा है, ‘’जिस तरह आमिर खान तुर्की जाकर एक तरह से भारतवासियों की भावनाओं को ठेंगा दिखा रहे हैं, उसे समझने की जरूरत है, एक तरफ तो वह खुद को ‘सेक्युलर’ कहते हैं, पर दूसरी तरफ यही आमिर इस्राइल के प्रधानमंत्री के भारत आने पर उनसे मिलने से मना करते हैं.’’

पांचजन्य में आरएसएस ने आगे कहा है, ‘’अगर आमिर खुद को इतना ही सेक्युलर मानते हैं तो उस तुर्की जाकर शूटिंग करने की क्यों सोच रहे हैं, जो जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान का समर्थन करता रहा है,’ बता दें कि साल 2018 में इजरायल की पीएम बेंजामिन नेतन्याहू भारत आए थे, उन्हें एक ऐसे कार्यक्रम में हिस्सा लेना जहां उन्हें कई कालाकारों से मुलाकात करनी थी, इस कार्यक्रम में आमिर खान भी को भी बुलाया गया था, लेकिन वह इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए थे, जिसके बाद उनपर सवाल उठने लगे थे, गौरतलब कि भारत-पाक मामलों में तुर्की हमेशा पाक का समर्थन करता है, जब भारत ने जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 को हटाया था, तब तुर्की ने पाक के साथ-साथ भारत का विरोध किया था, इस्लामिक देश होने की वजह से तुर्की भारत के विरोध में पाक के हर गतिविधियों को समर्थन करता है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

बता दें कि 15 अगस्त की रात को तुर्की की पहली महिला यानि राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन की पत्नि एमीन एर्दोगन ने ट्वीटर पर कई तस्वीरें शेयर की थी, इन तस्वीरों में वह राजधानी इस्तांबुल में आमिर खान के साथ बातचीत करती हुईं नजर आईं, इस ट्वीट में उन्होंने खुशी जताई की आमिर खान अपनी फिल्म की शूटिंग तुर्की के अलग-अलग इलाकों में करना चाहते हैं, इस ट्वीट के बाद आमिर भारत में कई लोगों के निशाने पर आए गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here