नई दिल्‍ली : दिल्‍ली में कोरोना की चिंताजनक स्थिति से निपटने के लिए अमित शाह के एक्शन का असर दिखने लगा है, दरअसल शाह ने सोमवार को CM केजरीवाल व अन्‍य के साथ समीक्षा बैठक की थी, इसमें दिल्‍ली में कोरोना से निपटने के लिए कई योजनाओं पर सहमति बनी थी, अब शाह के निर्देश के अनुसार यह योजनाएं जमीनी स्‍तर पर उतरने लगी हैं.

गृह मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने बुधवार को ट्विटर पर इन कदमों के बारे में जानकारी दी है, इसमें कहा गया है कि 15 नवंबर को हुई शाह की मीटिंग के बाद दिल्‍ली में घर-घर कोरोना टेस्टिंग की योजना तैयार कर ली गई है, इसे 25 नवंबर से शुरू किया जाएगा, इसके साथ ही सीएपीएफ से दिल्‍ली में अतिरिक्‍त डॉक्‍टर और हेल्‍थ वर्कर्स को भी भेजने को कहा गया था.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

जानकारी दी गई है कि इसके तहत सीएपीएफ की ओर से पहले ही 45 डॉक्‍टर और 160 पैरामेडिक्‍स दिल्‍ली पहुंच चुके हैं, इन्‍हें दिल्‍ली एयरपोर्ट के पास डीआरडीओ हॉस्पिटल और छतरपुर के पास कोविड केयर सेंटर में तैनात किया जाएगा, बाकी के डॉक्‍टर और स्‍टाफ अगले कुछ दिनों में पहुंच जाएंगे.

गृह मंत्रालय ने यह भी जानकारी दी है कि दिल्‍ली एयरपोर्ट के पास स्थित कोविड अस्‍पतालों में डीआरडीओ 250 आईसीयू बेड और 35 बीआईपीएपी बेड अगले 3 से 4 दिनों में जोड़ेगा, वहीं शाह के निर्देशानुसार गृह मंत्रालय 10 मल्‍टी डिस्‍पिलिनरी टीम का गठन कर रहा है जो दिल्‍ली के 100 प्राइवेट हास्पिटल में जाकर वहां आईसीयू बेड और कोरोना टेस्टिंग संबंधी जानकारी जुटाएंगी.

इसके साथ ही भारतीय रेलवे शकूरबस्‍ती रेलवे स्‍टेशन में 800 बेड के रेलवे कोच मुहैया करा रहा है, बेंगलुरु स्थित भारत इलेक्ट्रॉनिक्‍स लिमिटेड ने दिल्‍ली के लिए 250 वेंटिलेटर भेज दिए हैं, ये इस वीकेंड में पहुंच जाएंगे, इसके अलावा ICMR और दिल्‍ली सरकार राजधानी में नवंबर के अंत तक प्रतिदिन 60 हजार कोरोना टेस्‍ट कराने के लक्ष्‍य की योजना बना रहे हैं, टेस्टिंग क्षमता अभी 17 नवंबर को बढ़ाकर प्रतिदिन 10 हजार कर दी गई है.

शाह के निर्देश पर आईसीएमआर दिल्‍ली में कोविड 19 टेस्टिंग के लिए मोबाइल वैन उपलब्‍ध कराने में दिल्‍ली सरकार की मदद कर रहा है, अगले सप्‍ताह से इसके तहत 20000 टेस्‍ट संभव होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here