नई दिल्ली : सौरभ भारद्वाज ने कहा कि विधानसभा में आज एमसीडी में हुए 2500 करोड़ रुपए के घोटाले की जांच सीबीआई से कराने का प्रस्ताव रखा गया, लेकिन बीजेपी के विधायकों ने इसके खिलाफ अपना वोट किया.

बीजेपी के नेता सिर्फ कहने के लिए एमसीडी में हुए घोटाले की जांच सीबीआई से कराना चाहते हैं, जब दिल्ली विधानसभा ने प्रस्ताव पास कर दिया, तो बीजेपी पीछे हट गई,

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित एमसीडी के तीनों मेयर सीएम आवास के बाहर पिकनिक मना रहे हैं और भूख हड़ताल पर होने का झूठ बोल रहे हैं, उनके लिए होटल से खाना आ रहा है,

बीजेपी मेयर खाना खा रहे हैं और यह पकड़ा न जाए, इसलिए इन्होंने सीएम आवास के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे को तोड़ दिया है,

बीजेपी शासित एमसीडी में हुए 2500 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच कराने का प्रस्ताव दिल्ली विधानसभा में पास हो गया है,

भारद्वाज ने कहा कि कई दिनों से बीजेपी के नेता और खासतौर से नगर निगम के नेता और सांसद जो प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे और धरने पर बैठे मेयरों से मिलने आ रहे थे.

वह एक ही बात कह रहे थे कि आप झूठ बोल रही है, बीजेपी एमसीडी में कोई घोटाला नहीं हुआ है, सीबीआई जांच कराकर पूरे मामले को साफ कराना चाहिए,

भारद्वाज ने आगे कहा कि आज पूरे दिल्ली विधानसभा के सदन ने इस प्रस्ताव को सामने रखा और कहा कि बीजेपी दिल्ली नगर निगम में जो 2500 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है, उसकी सीबीआई से जांच कराई जाए,

सीएम केजरीवाल और सतेंद्र जैन ने भी कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए, जब सदन में इस मामले पर वोट डालने की बात हुई, तो यह चीज साफ हो गई कि दिल्ली बीजेपी के जितने भी सदस्य विधानसभा में मौजूद थे, वे जांच के खिलाफ थे,

वह चाहते थे कि इस भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच न कराई जाए, इससे यह बात साफ हो जाती है कि बीजेपी के नेता सिर्फ कहने के लिए सीबीआई जांच चाहते हैं, जब सीबीआई जांच की मांग हुई और पूरे सदन ने उस प्रस्ताव को पास किया, तो अब यह लोग पीछे हट रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here