उर्दू अकादमी में सोशल मीडिया विभाग की स्थापना होनी चाहिए : मनीष सिसोदिया


नई दिल्ली। उर्दू अकादमी दिल्ली की नवगठित गवर्निंग काउंसिल की पहली बैठक दिल्ली सचिवालय में हुई। बैठक में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा उर्दू के प्रचार प्रसार पर अधिक ज़ोर दिया गया। अकादमी के उपाध्यक्ष ने उर्दू की बेहतरी के लिए सुझाव दिए।
इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री एवं अकादमी के चेयरमैन मनीष सिसोदिया ने उर्दू अकादमी के पूर्व के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज सोशल मीडिया का समय है, इसलिए इसमें सोशल मीडिया विभाग की स्थापना की जानी चाहिए। इसके तहत अकादमी के सांस्कृतिक कार्यक्रमों में महत्वपूर्ण कवियों की कविताओं और लेखकों के रचनात्मक और शोध चयनित वाक्यांशों को विभिन्न सोशल मीडिया साइटों जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर दैनिक रूप से अपलोड किया जाना चाहिए। उर्दू के कार्यक्रमों के प्रचार-प्रसार को लेकर उन्होंने कहा कि अकादमी की विशेष वेबसाइट के माध्यम से इन सभी कार्यों का प्रचार-प्रसार किया जाए। मनीष सिसोदिया ने कहा कि उर्दू साक्षरता केंद्रों और उर्दू प्रमाणपत्र पाठ्यक्रमों को भी ई-लर्निंग से जोड़ा जाना चाहिए। हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास करते हैं कि उर्दू अकादमी का भारत में अन्य अकादमियों के साथ-साथ सोशल मीडिया के क्षेत्र में भी प्रमुख स्थान हो। उर्दू अकादमी दिल्ली द्वारा अपने प्रकाशनों के साथ-साथ विश्व की अन्य महत्वपूर्ण उर्दू पुस्तकों को भी ई-बुक प्रणाली के माध्यम से अकादमी की वेबसाइट से जोड़ा जाए। ऐसा करने से बैठे-बैठे उर्दू प्रशंसक इन पुस्तकों का लाभ उठा सकते हैं।


इस अवसर पर अकादमी के उपाध्यक्ष हाजी ताज मोहम्मद ने गवर्निंग काउंसिल के सदस्यों के परामर्श से अकादमी के अध्यक्ष मनीष सिसोदिया के समक्ष कुछ सुझाव रखे। उन्होंने कहा कि अकादमी में रिक्तियों को भरने के लिए जल्द से जल्द कर्मचारियों को नियमित किया जाए, उर्दू के प्रचार-प्रसार के लिए जल्द ही उर्दू साक्षरता केंद्र खोले जाएं और उर्दू भाषा के विकास के लिए ज्यादा से ज्यादा फंड मुहैया कराया जाए। कवियों, लेखकों और पत्रकारों के लिए पेंशन के नए आवेदनों पर विचार किया जाए। विज्ञापनों के लिए महत्वपूर्ण अवसरों पर उर्दू समाचार पत्रों का समर्थन किया जाना चाहिए। मुशायरा स्वतंत्रता दिवस की अनुमति दी जाए और उर्दू शिक्षकों के पदों के लिए उम्मीदवारों की तैयारी के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण की व्यवस्था की जाए।
बैठक में मनीष सिसोदिया के अलावा भाषा विभाग सचिव स्वाति शर्मा, उप सचिव वित्त रविन्द्र कुमार, अकादमी के उपाध्यक्ष हाजी ताज मोहम्मद, सचिव अकादमी मोहम्मद ए. आबिद, उपमुख्यमंत्री की ओएसडी अभिनंदिता माथुर, गवर्निंग काउंसिल के सदस्य जावेद रहमानी, मुस्तकीम खान, अब्दुल माजिद निजामी, इसरार कुरैशी, जावेद खान, रिफत अली जैदी, माने खान, अज़ीमुल्लाह शम्सी, सलीम सिद्दीकी, रुखसाना खान, सलीम चौधरी, शबाना बानो, मोहम्मद शकील, ऐनुल हक, मोहम्मद जियाउल्लाह, महमूद खान, राखी हसन, निकहत परवीन, मोहम्मद शादाब, शेख फारूक जमां तथा मोहम्मद नफीस मंसूरी उपस्थित रहे।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here