शमशाद रजा अंसारी

अभिनेता सोनू सूद का नाम याद आते ही ज़हन में हीरो से मार खाते हुये लम्बा चौड़ा विलेन याद आ जाता है। पर्दे पर विलेन के रूप में देख कर सोनू सूद को गाली देने वाले लोग रियल लाइफ में मजदूरों के लिए मसीहा बन कर सामने आये सोनू सूद की तारीफ़ करते नही थक रहे हैं। सोनू सूद के काम से अभिभूत होकर उनके एक प्रशंसक राजीव नैथानी ने तो फेसबुक पर यह तक लिख दिया कि “अब साउथ की फिल्मों को देखने में एक समस्या आएगी,जब हीरो सोनू सूद को मारेगा तो इच्छा करेगी कि हीरो को गोली मार दूँ”। बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद की यह फैन फॉलोइंग उनके रील लाइफ के रोल के नही मिली बल्कि रियल लाइफ के रोल के लिए बढ़ी है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कोरोना महामारी के कारण हुये लॉक डाउन में कामकाज ठप्प होने के कारण अपने घर जाने के लिए प्रवासी मजदूर दर दर भटक रहे हैं। मजदूर अपने परिवार के साथ पैदल, ट्रक, बस और ट्रेन से घर वापस जाने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन इसके लिए भी उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे परेशान हाल लोगों के लिए यह रील लाइफ का विलेन रियल लाइफ  में हीरो बन कर सामने आया है। सोनू सूद ट्विटर के ज़रिये ज़रूरतमन्द लोगों से लगातार सम्पर्क में हैं। वह ट्वीट करने वालों को जवाब देकर उनकी मदद कर रहे हैं।

बिहार के रहने वाले एक मजदूर ने ट्वीट कर बताया कि वो पास के पुलिस थाने में कई दिनों से चक्कर काट रहे हैं। वो लोग धारावी में रहते हैं और अभी तक उनकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया है। सोनू सूद ने इस मजदूर के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, ‘भाई चक्कर लगाना बंद करो और रिलैक्स करो, दो दिनों में बिहार में अपने घर का पानी पियोगे, डिटेल भेजो। वसीम अज़हर ने लिखा कि मेरा एक फ्रेंड वसई में है,वो दरभंगा अपने गाँव आना चाहता है,कृपया उसकी मदद कीजिए बहुत परेशान हो चुका है”। सोनू सूद ने जवाबी ट्वीट करते हुये लिखा कि “वो परसो अपने घर दरभंगा जा रहा है। डीटेल भेज देना जल्दी से”।

गोविन्द यादव ने लिखा कि “सर हम 4 लोग हैं,हमें महाराष्ट्र से यूपी जाना है,कोई व्यवस्था नही हो रही,सर एक महीने से परेशान हूँ प्लीज़ हेल्प” सोनू सूद ने गोविन्द को रिप्लाई करते हुये लिखा कि “लो हो गयी व्यवस्था… डिटेल्ज़ भेजो। कल आप घर जा रहे हो। वहीं, एक दूसरे ट्वीट में विनोद कुमार नामक व्यक्ति ने लिखा, “ईस्ट यूपी में कहीं भी भेज दो सर, वहां से पैदल चले जाएंगे।’ सोनू ने इस ट्वीट के जवाब में लिखा, पैदल क्यों जाओगे दोस्त, नंबर भेजो।”

राजरोशन शिवनाथ महतो ने सोनू सूद को मजदूरों के दल की सूची भेजी। जिसके जवाब में सोनू सूद ने लिखा,”रिमाइंड मी टुमारो”। गौरतलब है कि सोनू सूद प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के अलावा, कोरोना वॉरियर्स के लिए अपने होटल भी खोल दिए थे।इस संकट की घड़ी में सोनू सूद जिस तरह से मसीहा बनकर आगे आए हैं वो वाकई में कबीले तारीफ है। यह कारण है कि उनके फैन अब उन्हें हीरो से मार खाता देख हीरो पर गुस्सा होने की बात कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here