नयी दिल्ली:  युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बी वी ने कहा है कि मोदी सरकार किसानों के साथ अन्याय कर रही है इसलिए उनका संगठन किसानों के हित की लड़ाई आखिरी दम तक लड़ता रहेगा। श्रीनिवास ने मंगलवार को यहां आईटीओ चौराहे पर भारत बंद के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे संगठन के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने हाल में संसद में बिना चर्चा के जो तीनों कानून पारित कराए हैं वे किसान विरोधी है और देश के किसानों को धन्नासेठों का गुलाम बनाने का तरीका है।

उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के साथ जो व्यवहार किया है वह अनुचित है और युवा कांग्रेस निरंतर किसानों के साथ मिलकर निरन्तर उनकी लड़ाई लड़ता रहेगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार का मकसद कारपोरेट घरानों को लाभ पहुंचाना है और वह देश के अन्नदाता की मेहनत को पूंजीपतियों की हवाले करना चाहती है इसलिए कांग्रेस इस कानून का विरोध कर रही है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

एमएसपी के लिये हुड्डा की हुंकार

कांग्रेस ने कहा है कि सरकार को यदि कृषि क्षेत्र में सुधार लाना है और किसानों का हित करना है तो उसे हाल में पारित किसान संबंधी तीनों कानूनों को वापस लेकर सबकी की सहमति से नए कानून बनाकर न्यूनतम समर्थन मूल्य-एमएसपी को अनिवार्य कर देना चाहिए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तथा हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मंगलवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार को खेती को रोजगार का सतत आधार बनाने के लिए कृषि सुधारों को कानूनी जामा पहनाना चाहिए। उनका कहना था कि सरकार को सबसे पहले इन तीनों कानूनों को वापस लेकर किसानों के आंदोलन को खत्म करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि किसानों के हित की बात करने वाली मोदी सरकार अपनी मांगों को लेकर दिल्ली आ रहे किसानों को पानी की बौछारें और डंडे मारकर रोकना चाहती है। किसान ऐसा बर्ताव करने वाली सरकार पर कैसे भरोसा कर सकते हैं। हुड्डा ने कहा कि किसानों का सरकार पर भरोसा रहे इसके लिए उनके साथ क्रूर व्यवहार करने की बजाय सरकार को उनके साथ सौहार्दपूर्ण बात करनी चाहिए थी लेकिन वह ऐसा करने में वह असफल रही है और किसानों को गुमराह करने का प्रयास करती रही है।

कांग्रेस नेता ने किसानों के भारत बंद को सफल बताया और कहा कि सरकार ने उनके साथ अन्याय किया है इसलिए पार्टी ने किसानों के बंद का समर्थन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here