नई दिल्ली : हिन्द न्यूज़ समूह के चेयरमैन चौधरी अब्दुल माजिद निज़ामी के ममेरे भाई रहमत पुत्र इश्त्याक का राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान शनिवार सुबह दो बजे 30 वर्ष की अल्पायु में निधन हो गया। वह ब्रेन ट्यूमर की बीमारी से पीड़ित थे। जिसका पता केवल 15 दिन पहले चला। 15 दिन पहले उनकी नाक में दर्द हुआ। जिसका चेकअप कराने के बाद पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है। रहमत की मौत की ख़बर सुनकर उनके परिचितों में शोक की लहर दौड़ गयी। रहमत की असमय मौत से उनकी बीवी एवं दो बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल है।

अपने भाई की मौत से सदमें में आये हिन्द न्यूज़ के सम्पादक अब्दुल माजिद निज़ामी ने अपने भाई को याद करते हुये नम आँखों से कहा कि

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

यूँ तो दुनिया में सदा रहने के लिए आता नही कोई,

मगर जिस तरह से तुम गये,इस तरह जाता नही कोई।

अब्दुल माज़िद निज़ामी ने आगे कहा कि यक़ीन नही होता इतने हँसमुख इंसान इतनी छोटी सी उम्र में दुनिया को अलविदा कह गये। अभी भी आँखों के सामने भाई का हँसता हुआ चेहरा घूम रहा है। रहमत अपने दो बच्चों, अपनी बीवी और तमाम परिचितों को एक गहरे सदमे में डाल गये। इस खबर ने ज़हन मे कई सवाल छोड़ दिये हैं। क्या ये उम्र जाने की थी। एक ऐसा बेटा जिस पर हर माँ बाप को फ़ख़्र हो, एक ऐसा भाई जिस पर हर भाई बहन को फ़ख़्र हो, सीलमपुर मे रह रहे बड़े बेटे मोहम्मद रहमत ने अपने वालिद मरहूम इश्त्याक खान के 2008 मे इन्तेक़ाल होने के बाद परिवार को एक मज़बूत डोर मे बांधा। बेशक हर ज़िन्दा शय को मौत का जायका चखना है। मगर इस तरह से कोई जाए ऐसा कभी ना हो। अल्लाह से दुआ है परिवार को इस सदमे से उभरने की हिम्म्मत दे और रहमत को करवट करवट जन्नत बख़्शे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here