Urdu

Epaper Urdu

YouTube

Facebook

Twitter

Mobile App

Home यूपी दमन : जिला प्रशासन ने कोरोना आपदा को अवसर बना अभिभावकों को...

दमन : जिला प्रशासन ने कोरोना आपदा को अवसर बना अभिभावकों को जबरन धरने से उठाया 

शमशाद रज़ा अंसारी

जनहित मुद्दों को लेकर दमनकारी नीति अपनाने वाली भाजपा सरकार ने अपनी तानाशाही का एक और प्रदर्शन ग़ाज़ियाबाद में किया। जहाँ शिक्षा के व्यापारीकरण के विरोध एवं फीस माफी सहित कई मुद्दों पर पिछले आठ दिन से ग़ाज़ियाबाद जिला मुख्यालय पर अनिश्चतकालीन भूख हड़ताल पर बैठे अभिभावकों एवं अभिभावक संघ को बुधवार सुबह प्रशासन द्वारा कोरोना का हवाला देकर बलपूर्वक उठा दिया गया। पुलिस ने अभिभावक संघ के पदाधिकारी विवेक त्यागी, अनिल सिंह, साधना सिंह एवं अभिभावक मनोज शर्मा को हिरासत में ले लिया। उन्हें हिरासत में लेने के बाद बाक़ी लोगों को जबरन उठा कर भगा दिया तथा धरनास्थल और लगे बैनर एवं टेंट को उखाड़ दिया। हिरासत में लेने के बाद चारों का जिला अस्पताल एमएमजी में कोरोना का टेस्ट कराया गया जहाँ उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ज्ञात हो कि लॉक डाउन के बाद आर्थिक तंगी के कारण अभिभावक संघ तीन महीने की फीस माफ़ करने एवं ऑनलाइन पढ़ाई होने तक कम फीस लेने के लिए जिलाधिकारी कार्यालय के सामने आठ दिन से धरना दे रहा था। जिनमें तीन महिलायें भूख हड़ताल पर थीं। हालाँकि अभिभावकों के धरने को समाप्त करवाने के लिए प्रशासन ने कई बार प्रयास किया, लेकिन हर बार वार्ता विफल रही। उसके बाद 7 सितंबर को भारतीय किसान यूनियन(टिकैत) के पदाधिकारी भी अभिभावक संघ को समर्थन देने जिला मुख्यालय पहुँच गए। किसान यूनियन ने 7 सितम्बर की सुबह धरनास्थल पर पहुँच कर प्रशासन को चेतावनी दी कि अगर दोपहर एक बजे तक इस मुद्दे को नहीं सुलझाया तो हजारों की संख्या में किसान धरने पर बैठ जायेंगें। जिसके बाद जिलाधिकारी खुद धरना स्थल पर वार्ता करने आये लेकिन अभिभावकों की मांग को अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर बता कर चले गए।

जिसके बाद अभिभावकों ने बुधवार सुबह 11:30 बजे हापुड़ चुंगी चौराहे पर चक्का जाम का ऐलान कर दिया। जिससे घबराकर प्रशासन ने अभिभावकों को धरना स्थल से उठाने के लिए बल प्रयोग कर जबरदस्ती उठा दिया साथ ही अनशन की अगुवाई कर रहे विवेक त्यागी,अनिल सिंह, साधना सिंह एवं मनोज शर्मा को हिरासत में लेकर पहले थाना फिर जिला अस्पताल ले गयी। प्रशासन का कहना है कि क्षेत्राधिकारी द्वितीय अवनीश कुमार की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी है जो मंगलवार को धरना स्थल पर गए थे तथा अभिभावकों का ज्ञापन लिया था। वहीं अभिभावकों का कहना है कि हमने मंगलवार को कोई ज्ञापन दिया ही नहीं है। हालांकि इससे पहले जब जिलाधिकारी धरना स्थल पर आए थे उसमें भी क्षेत्राधिकारी की उपस्थिति बताई जा रही हैं। यदि क्षेत्राधिकारी उस समय कोरोना पॉज़िटिव हुये थे तो उस समय उपस्थित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को भी कोरोना संक्रमित होना चाहिए था।

वहीँ दूसरी तरफ जब अभिभावकों को धरनास्थल से हटाने की सूचना जब कांग्रेस नेत्री डॉली शर्मा को मिली तो वह फौरन धरनास्थल पर पँहुचीं। डॉली शर्मा ने कहा कि भाजपा दमनकारी नीति अपना रही है। समस्या का निस्तारण करने की जगह समस्या उठाने वालों की कुचल रही है। आर्थिक मंदी में जनता का साथ न देकर शिक्षा माफियाओं का साथ दे रही है। जनता आने वाले चुनावों में भाजपा को इसका मुंहतोड़ जवाब देगी।

उधर इसी दौरान कांग्रेस के कुछ नेताओं ने घन्टाघर पर चक्का जाम करने की घोषणा कर दी। जिससे प्रशासन के हाथ पाँव फूल गये। आनन-फ़ानन में एडीएम सिटी, एसपी सिटी पुलिस फ़ोर्स एवं आरआरएफ के साथ घन्टाघर पँहुचे। पुलिस के पँहुचने के थोड़ी देर बाद ही कांग्रेस नेता मनोज कौशिक एवं रवि कुमार अन्य कार्यकर्ताओं के साथ नारेबाजी करते हुये घन्टाघर पँहुचे। जहां पर पुलिस ने उन्हें जबरन हिरासत में लिए। हालाँकि थोड़ी देर हिरासत में रखने के बद उन्हें छोड़ दिया गया।

प्रदेश सरकार ने पुलिस प्रशासन के दम पर अभिभावकों के धरने को कुचल तो दिया लेकिन जनपद ग़ाज़ियाबाद के इतिहास में 9 सितम्बर का दिन काले अध्याय के रूप में लिख दिया गया। ग़ाज़ियाबाद की आने वाली पीढ़ी जब भी ग़ाज़ियाबाद का इतिहास पढ़ेगी तो उसे पता चलेगा कि प्रदेश सरकार तथा पुलिस प्रशासन ने छात्रों के भविष्य की परवाह न करते हुये किस तरह शिक्षा माफियाओं का साथ देते हुये अभिभावकों के आंदोलन को कुचला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

TIME वाली दबंग दादी हापुड़ की रहने वाली हैं, गाँव में जश्न का माहौल

नई दिल्ली : दादी बिलकिस हापुड़ के गाँव कुराना की रहने वाली हैं। टाइम मैगज़ीन में दादी का नाम आने से गाँव...

बिहार विधानसभा चुनाव : तेजस्वी यादव का बड़ा वादा, कहा- ‘पहली कैबिनेट में ही करेंगे 10 लाख युवाओं को नौकरी का फैसला’

पटना (बिहार) : बिहार विधानसभा चुनाव तारीखों का ऐलान हो गया है, 10 नवंबर को चुनावी नतीजे भी आ जाएंगे, पार्टियों ने...

हापुड़ : गंगा एक्सप्रेस-वे एलाइनमेंट बदला तो होगा आंदोलन : पोपिन कसाना

हापुड़ (यूपी) : मेरठ से प्रयागराज के बीच प्रस्तावित गंगा एक्सप्रेस-वे के एलानइमेंट बदले जाने को लेकर स्थानीय निवासियों ने विरोध जताया...

चाचा की जायदाद हड़पने के लिए “क़ासमी” बन्धुओं ने दिया झूठा हलफनामा, दाँव पर लगा दी “क़ासमी” घराने की इज़्ज़त, तय्यब ट्रस्ट भी सवालों...

शमशाद रज़ा अंसारी मुसलमानों की बड़ी जमाअत सुन्नियों में मौलाना क़ासिम नानौतवी का नाम बड़े अदब से लिया जाता...

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, बीते 6 साल से थे कोमा में, PM मोदी ने शोक व्यक्त किया

नई दिल्ली : दिग्गज बीजेपी नेता जसवंत सिंह का 82 साल की उम्र में निधन हो गया, पीएम मोदी ने उनके निधन पर...