नयी दिल्लीः  समाजवादी पार्टी के राम गोपाल यादव ने बुधवार को राज्यसभा में आन्दोलन के दौरान मारे गये किसानों के परिवारों को 20 – 20 लाख रुपये का मुआवजा तथा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की। राम गोपाल यादव ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद के प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि किसानों की भूख और ठंड से मौत हुयी है तथा सरकार निर्दयी एवं बेरहम हो गयी है । उन्होंने कहा कि किसान तीन कृषि सुधार कानूनों को सही नहीं मानते हैं जिसके कारण इन कानूनों को वापस लिया जाना चाहिये और उससे विचार कर नया कानून लाया जाना चाहिये ।

उन्होंने राजधानी में किसानों के लिए किये गये सुरक्षा व्यवस्था पर आपत्ति करते हुए सवाल किया कि क्या किसान हमला करने आ रहे हैं। किसानों के आन्दोलन स्थल के निकट संसद से भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। लोकतंत्र है किसान अपने मन की बात कहने आये हैं। सरकार को उन्हें मनाना चाहिये। उन्होंने कहा कि ठेका कृषि को लेकर घोखाघड़ी की शिकायतें मिली है। नये कानून से जमाखोरी की छूट मिल गयी है और किसानों को फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलने का संदेह है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

बता दें कि एमएसपी पर कानून बनाने और केन्द्र सरकार द्वारा बीते वर्ष बनाए गए तीन कानूनों को वापस ने के लिये किसान ढ़ाई महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों का यह आंदोलन दिल्ली की सीमाओं पर चल रहा है। इस आंदोलन में सो से अधिक किसानों की सर्दी के कारण जान भी गई है, वहीं कई किसानों ने आंदोलन स्थल पर आत्महत्या भी की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here