लखीमपुर खीरी (यूपी) : यूपी के लखीमपुर खीरी में दरिंदों ने एक नाबालिग दलित लड़की के साथ वहशीपन की हदें पार कर दी, शौच के लिए घर से बाहर गई इस 13 साल की छात्रा के साथ न सिर्फ बदमाशों ने गैंगरेप किया, बल्कि उसकी आंखें फोड़ दीं, बच्ची के गले में पट्टा डालकर उसे घसीटा, इस बच्ची के साथ जो गुजरा उसे जानकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएं, पुलिस के मुताबिक बच्ची 14 अगस्त की दोपहर करीब 1 बजे अपने घर से शौच के लिए गन्ने के खेतों की तरफ गई थी, घरवालों के लिए ये सामान्य सी बात थी, लेकिन उनका माथा तब ठनका जब लड़की काफी देर बाद ही वापस नहीं लौटी, परिवार वालों ने बच्ची की तलाश शुरू कर दी और इसी के साथ ही बच्ची की गुमशुदगी की सूचना स्थानीय पुलिस को दे दी.

बच्ची के पिता ने रोते हुए कहा कि हम लोग अपनी बेटी को ढूंढत-ढूंढते गन्ने की खेतों की ओर गए तो उसका शव वहां पड़ा हुआ था, बच्ची के पिता ने कहा कि दरिंदों ने उसकी आंखें फोड़ दी थीं, उसके गले में पट्टा बंधा हुआ था, हैवानों ने बच्ची की जीभ भी काट डाली थी, उन्होंने कहा कि उन्हें जिन पर शक है वे घटनास्थल के पास मौजूद थे, जैसे हमलोग वहां पहुचने वाले थे वे वहां से भाग गए, लड़की के चाचा ने कहा कि बच्ची के साथ रेप किया गया है, उन्होंने जगदीश, संतोष और संजय नाम के तीन युवकों पर आरोप लगाया है, पीड़ित बच्ची के चाचा ने कहा कि बच्ची खेत गई थी वहां पर इसे जगदीश, संतोष और संजय मिले, बच्ची के साथ रेप किया गया है, फिर इसकी आंखें फोड़ दी गईं और उसे मार डाला गया है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

इस मामले में पहले बच्ची के परिजनों के बयान पर ईसानगर थाने में लखीमपुर पुलिस ने संतोष यादव और संजय गौतम नाम के दो युवकों पर आईसीपी की धारा 301 और 201 के तहत मुकदमा दर्ज किया है, पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए इन दोनों को गिरफ्तार कर लिया है, एसपी सतेंद्र कुमार ने कहा कि इस वीभत्स रेप कांड में आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लगाया जाएगा, उन्होंने कहा कि आरोपियों से पूछताछ जारी है और ये पता किया जा रहा है कि इस घटना में कोई और तो शामिल नहीं था.

एसपी सतेंद्र कुमार ने बताया है कि पुलिस ने तुरंत कार्रवाई की और शव का पोस्टमार्टम करवाया, बच्ची की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट 15 अगस्त को आई, पोस्टमॉर्टम में गैंगरेप की पुष्टि हुई है, दोनों आरोपियों को पहले ही धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है, अब पोस्टमार्टम में रेप की पुष्टि हो गई है तो मुकदमे में आईपीसी की धारा 376-D भी जोड़ी जाएगी, इस घटना पर मायावती ने प्रदेश की मौजूदा सरकार पर हमला किया है, उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यूपी के लखीमपुर खीरी में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद और शर्मनाक, ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अन्तर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई करे, बीएसपी की यह मांग है,

ब्यूरो रिपोर्ट, लखीमपुर खीरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here