लखनऊ (यूपी) : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज वीडियोकालिंग के जरिए अपने संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ के जिलाध्यक्ष हवलदार यादव से जनपद में आई बाढ़ तथा अन्य समस्याओं पर वार्ता की। उन्होंने पूर्व मंत्री योगेन्द्र निषाद से तथा गायक कमलेश यादव के अतिरिक्त एडवोकेट दुर्विजय यादव तथा अन्य समाजवादी साथियों से भी वार्ता की।

अखिलेश यादव ने आजमगढ़ में बाढ़ की स्थिति के सम्बंध में हवलदार यादव से जानकारी ली। उन्होंने बताया कि जनपद में बाढ़ से गांवों में हाहाकार मचा है। गांव जलमग्न है, फसलें डूब गई है और पशुओं की बुरी हालत है। हवलदार यादव ने राम सिंगार यादव और निजामुद्दीन तथा अन्य साथियों के साथ बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा किया और बताया कि सरकार कोई मदद नहीं कर रही है। लोग भूखे प्यासे छतों पर बैठे हैं। हवलदार यादव ने बताया कि बाढ़ग्रस्त क्षेत्र के लोग भाजपा सरकार की उपेक्षा से बहुत नाराज है। समाजवादी पार्टी की मांग है कि सरकार बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा दे। धान, गन्ना की फसल बर्बाद हुई है। फरवरी के बाद गन्ना का बकाया नहीं मिला है। बाढ़ मंे कच्चे मकान गिर गए हैं, रहने का ठिकाना नहीं रहा है। दिवाराखास राजागांव- के पूरब घाघरा नदी में विलीन हो गये। सगड़ी तहसील का दो तिहाई हिस्सा बाढ़ ग्रस्त है। विद्युत आपूर्ति ठप्प है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

एडवोकेट दुर्विजय यादव ने अखिलेश यादव को बताया कि आजमगढ़ जनपद में वकील बहुत दिक्कत में है। उनकी आर्थिक स्थिति खराब है। वकीलों को राहत देने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया है। प्रधान संघ के जिलाध्यक्ष लौहर यादव ने बांसगांव के दलित प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू की हत्या से जनता में उत्पन्न आक्रोश के बारे में बताया। जनपद में कोइरी एवं राजभर समाज के लोगों को गोली मारने की कई घटनाएं हुई हैं। अल्पसंख्यकों को भी मारा जा रहा है। पीड़ितों की एफआईआर भी दर्ज नहीं होती है। बीबीपुर विधानसभा क्षेत्र के मेहनगर के आमीर अहमद पर राजनीतिक हमला हुआ। वे जीवन मौत से जूझ रहे हैं।

अखिलेश यादव से शिवसागर यादव जिला पंचायत सदस्य, देवनाथ साहू, साहू समाज के अध्यक्ष, सूरज राजभर श्रम प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष, दलित नेता बृजेश कुमार एवं जगदीश राम सहित मनीष यादव, संतोष, शंकर नागेन्द्र मौर्य आदि से भी आजगढ़ जनपद की समस्याओं पर वार्ता की।

ब्यूरो रिपोर्ट, लखनऊ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here