लखनऊ (यूपी) : UP में राज्यसभा चुनाव  के बीच BSP में बगावत जोरों पर दिखाई दे रही है, ताजा खबर ये है कि कुछ ही घंटे के अंदर BSP से 7 विधायक बागी हो चुके हैं, सातवीं बागी विधायक के रूप में वंदना सिंह का नाम जुड़ा है, ये आजमगढ़ के सगड़ी से BSP विधायक हैं, बताया जा रहा है कि वंदना सिंह जल्द ही SP का दामन थाम सकती हैं.

बता दें आज सुबह BSP प्रत्याशी के 5 प्रस्तावक विधायकों असलम राइनी, असलम अली, मुज्तबा सिद्दीकी, हाकिम लाल बिंद और हरगोविंद भार्गव ने अपना नाम वापस ले लिया, इसके बाद ये विधायक सीधे SP कार्यालय पहुंचे, जहां इनकी SP प्रमुख अखिलेश यादव से लंबी बातचीत हुई, इस दौरान कुछ विधायकों ने सपा में शामिल होने और भविष्य में टिकट मिलने की अपनी मंशा जाहिर की, इसके बाद बसपा की एक और विधायक सुषमा पटेल भी बगावत कर गईं और सपा के खेमे में नजर आईं, अब आजमगढ़ की सगड़ी से बसपा विधायक वंदना सिंह का नाम जुड़ने से बागियों की संख्या 7 हो गई है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उधर इस पूरे घटनाक्रम पर SP के एमएलसी उदयवीर सिंह ने कहा कि राज्यसभा चुनाव में SP ने प्रकाश बजाज निर्दल प्रत्याशी का सपोर्ट किया है, अगर कुछ दूसरी पार्टी के विधायक भी सपोर्ट करने चाह रहे हैं तो उनका स्वागत है, कुल 6 विधायकों ने SP अध्यक्ष से मुलाकात की है, BSP विधायकों के भविष्य पर पूछे गए सवाल पर उदयवीर बोले कि विधायकों की मर्जी पर है कि वह किस पार्टी में जाने का निर्णय लेंगे, SP में हर किसी का स्वागत है.

उधर BSP ने बागी विधायकों के मुद़्दे पर सपा पर हमला किया है, BSP नेता उमाशंकर सिंह ने कहा कि SP ने BSP को नहीं एक दलित को आगे बढ़ने से रोका है, दलित समाज SP को मुहतोड़ जवाब देगा, उन्होंने कहा कि SP ने BSP विधायको की खरीद-फरोख्त कराई है, SP की इस हरकत से BSP पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा, उमाशंकर सिंह ने इसके साथ ही मांग की कि सरकार BSP विधायको के ठिकानों पर छापा मार जांच कराए, वहीं BJP के राज्यसभा चुनाव में नवां प्रत्याशी नहीं उतारने के सवाल पर उमाशंकर सिंह ने कहा कि BJP ने संख्या बल न होने की मजबूरी में प्रत्याशी नहीं उतारा.

बसपा के 7 बागी विधायक

असलम राइनी

असलम अली

मुजतबा सिद्दीकी

हाकिम लाल बिंद

हरगोविंद भार्गव

सुषमा पटेल

वंदना सिंह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here