आज़मगढ़ः संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर जिले के सभी किसान संगठन व नागरिक मंच के साथियों ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने ,एमएसपी को कानून गारंटी देने, किसानों को कर्ज मुक्त करने और 26 जनवरी को गिरफ्तारी सभी किसानों को तत्काल रिहा करने की मांग को लेकर के जिलाधिकारी आजमगढ़ के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन दिया। कचहरी परिसर में तीनों किसी कानून -वापस लो,एसपी को कानूनी दर्जा, किसानों तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है,  किसानों कर्ज से मुक्त करो, स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करो, किसान मजदूर छात्र नौजवान एकता जिंदाबाद, इन्कलाब जिंदाबाद आदि  नारे लगाकर प्रतिरोध मार्च निकला गया ।जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति महोदय को ज्ञापन दिया गया।

आंदोलनकारी किसानों को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि सरकार  अंबानी अदानी जैसी बड़ी-बड़ी कंपनियों के दबाव में है वह आंदोलन के साथ न्याय नहीं कर रही है आंदोलन के साथ कर रही है किसान संगठनों के साथ हर दौर की वार्ता में उसका हटवा दी रवैया निंदनीय बसना योग्य है । पत्रकारों को धरना स्थल पर जाने से रोकने का प्रयास देश के लोकतंत्र के खिलाफ है।                   

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

प्रतिरोध मार्च में जयप्रकाश नारायण, रविन्द्र नाथ राय, दुखहरण राम ,इन्द्रासन सिंह, विनोद सिंह ,वेद उपाध्याय, जियालाल, रामदवर राम, रामराज ,रामजन्म यादव रामाश्रय यादव, रामजीत प्रजापति ,कामरेड बसंत, अनिकेत, सुदर्शन राम ,ब्रिजेश राय, संदीप, रामकृष्ण यादव, रिहाई मंच के राजीव यादव, विनोद यादव, लक्ष्मण प्रसाद, अवधेश यादव ,मुन्ना कुमार यादव सहित सैकड़ों लोग शामिल रहे।                       

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here