लखनऊ (यूपी) : प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने अपने भतीजे अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ 2022 का उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है, उन्होंने सोमवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि 2022 में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी यूपी में पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़ेगी, आगे सपा के साथ गठबंधन करने पर उन्होंने कहा कि ‘मिशन 2022 में उनकी पहली चाह होगी कि वे पूर्व सीएम अखिलेश यादव की पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ें,’ 2017 में समाजवादी पार्टी से अलग होकर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी का गठन करने वाले शिवपाल यादव ने कहा कि ‘परिवार में कोई झगड़ा नहीं है, मेरा और नेता जी का अपमान हुआ इसलिए हम अलग हुए थे, हमने परिवार के सब लोगों को साथ साथ रखने का प्रयास किया है,’ आगे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ‘यूपी में कानून व्यवस्था नहीं है और बेईमानी और भ्रष्टाचार अपने चरम पर पहुंच गया है.’

बता दें कि इससे पहले अगस्त में भी शिवपाल सिंह यादव ने नरम तेवर अपनाते हुए कहा था कि 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए सभी “समाजवादी” नेताओं को फिर से एकजुट हो जाना चाहिए, शिवपाल ने कहा कि ‘इसके लिए वह सब कुछ कुर्बान करने को तैयार हैं,’ यादव ने कहा कि ‘अगर वह अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली पार्टी के साथ पुनर्मिलन करने में विफल रहते हैं तो वे लोगों के फैसले के आधार पर आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ेंगे.’

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले, यादव अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सपा से अलग हो गए थे और एक नए राजनीतिक संगठन पीएस का गठन किया था, शिवपाल यादव ने फिरोजाबाद संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा था, लेकिन बीजेपी के डॉ. चंद्र सेन जादोन के खिलाफ चुनाव हार गए थे, फिर पिछले साल नवंबर में शिवपाल ने घोषणा की कि वह अगले उत्तर प्रदेश चुनावों के लिए अपने भतीजे अखिलेश यादव के साथ हाथ मिलाने के लिए तैयार हैं, जोकि 2022 में होने वाला है, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया था कि ‘वह मुख्यमंत्री बनने के इच्छुक नहीं हैं, इसके बजाय वे चाहते हैं कि भतीजे को फिर से पद संभालने का मौका मिले,’ 2017 के विधानसभा चुनावों में, बीजेपी ने 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज की जबकि 403 सदस्यीय राज्य विधानसभा में सपा को महज 47 सीटों पर जीत नसीब हो पाई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here