नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि पिछले 14 सालों में पहली बार भाजपा के किसी नेता ने एमसीडी को आत्म निर्भर बनाने की बात कही है। आम आदमी पार्टी एमसीडी को अत्म निर्भर बनाने को लेकर साउथ एमसीडी की मेयर अनामिका की तरफ से आए बयान का स्वागत करती है। दिल्ली की जनता ने वोट देकर भाजपा को एमसीडी में काम करने के लिए भेजा है, ताकि वो अपनी जिम्मेदारियों को दूसरों पर न डालें। दुर्गेश पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी भाजपा को कुछ सुझाव देना चाहती है। यदि भाजपा चाहे तो हम भाजपा के नेताओं और उनके एमसीडी के अधिकारियों को प्रशिक्षित करना चाहेंगे कि कैसे भ्रष्टाचार को कम किया जाता है, कैसे सरकार चलाई जाती है और कैसे बजट बढ़ाया जाता है। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल सरकार ने ईमानदारी से काम करके पिछले 5 साल में अपने बजट को दोगुना कर दिया। दिल्ली सरकार का 2015 में करीब 28 हजार करोड़ का बजट था, जो 2020 में बढ़ कर करीब 60 हजार करोड़ का हो गया है। वहीं, एमसीडी का 2015 में करीब 10 हजार करोड़ रुपये बजट था, जो 2020 में बढ़ कर 11340 करोड़ रुपये हुआ, पांच साल में केवल 1340 करोड़ की वृद्धि कर सकी है।

पार्टी मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि हम पिछले कई सालों से देख रहे हैं कि जब-जब नगर निगम के सामने कोई भी समस्या आती है, तो वह उसका जिम्मेदार दिल्ली सरकार को ठहराती है। चाहे नगर निगम के कर्मचारियों के वेतन का मुद्दा हो, चाहे दिल्ली में जलभराव की समस्या का मुद्दा हो, निगम के स्कूलों में खराब शिक्षा व्यवस्था का मुद्दा हो या फिर दिल्ली की साफ-सफाई का मुद्दा हो, जब-जब इस प्रकार की समस्याएं नगर निगम के सामने आती है, तो भाजपा शासित नगर निगम सारा दोष दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी और आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के सर मढ़ देती है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्होंने कहा यह बड़े ही हर्ष की बात है कि पहली बार भाजपा के किसी नेता ने इस बात को स्वीकार किया है कि दिल्ली की जनता ने नगर निगम को चलाने की जिम्मेदारी, नगर निगम के कर्मचारियों को वेतन देने की जिम्मेदारी, दिल्ली की साफ सफाई की जिम्मेदारी, नगर निगम के अस्पतालों को सुधारने की जिम्मेदारी, नगर निगम के स्कूलों में बेहतर शिक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी, भाजपा शासित नगर निगम को दी है।

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की भाजपा की मेयर साहिबा द्वारा दिए गए बयान का हवाला देते हुए दुर्गेश पाठक ने कहा कि मीडिया के माध्यम से यह जानकारी प्राप्त हुई है कि मेयर साहिबा श्रीमती अनामिका जी ने यह ऐलान किया है कि अब उन्हें दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार से कोई पैसा नहीं चाहिए, अब वह खुद अपने बलबूते पर नगर निगम को आत्मनिर्भर बनाएंगी। पिछले 14 साल से दिल्ली की जनता ने नगर निगम में अपना कीमती वोट देकर भाजपा को जिताया और यह उम्मीद की थी कि वह अपनी जिम्मेदारियों को निभाएंगे और नगर निगम को बेहतर तरीके से चलाएंगे और दिल्ली को एक स्वच्छ और साफ शहर बनाएंगे, परंतु पिछले 14 सालों से लगातार भाजपा अपनी जिम्मेदारियों को दूसरों के कंधों पर डालकर भागती रही है। मगर 14 साल बाद ही सही, कम से कम भाजपा के किसी नेता ने यह स्वीकार तो किया कि नगर निगम को चलाने की जिम्मेदारी भाजपा की है और वह इसे आत्मनिर्भर बनाएंगे।

दुर्गेश पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी मेयर अनामिका जी को इस बात के लिए बधाई देती है और उनके इस कदम का स्वागत करती है कि वह नगर निगम को आत्मनिर्भर बनाएं, क्योंकि दिल्ली की जनता भी भाजपा से यही अपेक्षा करती है। उन्होंने कहा कि इस मौके पर हम भारतीय जनता पार्टी को कुछ सुझाव भी देना चाहते हैं। यदि भाजपा को हमारे सुझाव अच्छे लगे तो वह उन पर अमल कर सकती है। उन्होंने कुछ आंकड़े मीडिया के साथ साँझा करते हुए बताया कि जब 2015 में दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी, उस समय दिल्ली सरकार का बजट लगभग 28000 करोड रुपए था। पिछले 5 सालों में आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने, पार्टी के सभी मंत्रियों ने, विधायकों ने, समस्त अधिकारियों ने बड़ी ईमानदारी और मेहनत के साथ काम किया और मात्र 5 सालों में दिल्ली की जनता पर बिना किसी अतिरिक्त टैक्स का बोझ डाले, इस 28 हजार करोड़ के बजट को 60 हजार करोड़ से भी अधिक करके दिखाया। वहीं भाजपा शासित नगर निगम का बजट 2015 में लगभग 10000 करोड रुपए था और आज 5 साल बाद भाजपा शासित नगर निगम इस बजट को मात्र 11340 करोड रुपए तक ही ले जा सकी है। अर्थात पिछले 5 सालों में मात्र 1340 करोड रुपए की ही वृद्धि भाजपा शासित नगर निगम कर पाई है। जबकि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार ने अपने बजट को मात्र 5 सालों में ही लगभग दोगुने से भी ज्यादा करके दिखाया। उन्होंने कहा यदि भाजपा चाहे तो आम आदमी पार्टी भाजपा के नेताओं की, सदन की और निगम के अधिकारियों की ट्रेनिंग भी करना चाहेगी और उनको सिखाना चाहेगी कि किस तरह से भ्रष्टाचार को कम किया जा सकता है और ईमानदारी के साथ सरकार को चलाया भी जा सकता है और बजट को बढ़ाया भी जा सकता है। उन्होंने कहा कि हम भाजपा के आत्मनिर्भर बनने वाले कदम का स्वागत भी करते हैं और यदि भाजपा सीखना चाहती है तो हम उन्हें सिखाने के लिए भी तैयार है।

प्रेस वार्ता में मौजूद उत्तरी दिल्ली नगर निगम से आम आदमी पार्टी के नेता विपक्ष विकास गोयल ने कहा कि मैं पूर्वी दिल्ली नगर निगम और उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयरों से भी कहना चाहूंगा कि जिस प्रकार से दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की मेयर साहिबा ने आत्मनिर्भर बनने का प्रण लिया है, उसी प्रकार से अन्य दोनों निगम के मेयर भी आत्म निर्भर बनने की दिशा में आगे बढ़ें और वह भी इस बात को स्वीकार करें, कि जनता द्वारा जो टैक्स के रूप में पैसा दिया जा रहा है उसे सही जगह और ईमानदारी के साथ खर्च करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि एक जिम्मेदार विपक्ष होने के नाते हम पहले भी समय-समय पर भाजपा को सुझाव देते रहे हैं और आगे भी हम दिल्ली को साफ और स्वच्छ बनाने के लिए हर प्रकार से भाजपा का सहयोग करने के लिए तैयार है।

प्रेस वार्ता में मौजूद दक्षिण दिल्ली नगर निगम से आम आदमी पार्टी के नेता विपक्ष प्रेम सिंह चैहान ने कहा, कि हम अपनी मेयर साहिबा के इस कदम का स्वागत करते हैं और उनको इस बात का यकीन दिलाते हैं, कि चाहे स्टैंडिंग कमेटी की मीटिंग में हो या सदन में हो, हम हर जगह उनके इस सकारात्मक कदम के सहयोग के लिए साथ खड़े हैं।

भाजपा शासित नगर निगम के कर्मचारियों द्वारा की गई हड़ताल के संबंध में एक जानकारी देते हुए दुर्गेश पाठक ने बताया कि पिछले कई महीनों से नगर निगम के कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है। जिसकी वजह से वह लोग सिविक सेंटर के बाहर धरने पर बैठे हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी पूरी तरह से निगम के कर्मचारियों के साथ खड़ी है और इसी संदर्भ में आम आदमी पार्टी के समस्त निगम पार्षद सोमवार को राजघाट से एक मौन पदयात्रा निकालेंगे। यह पदयात्रा राजघाट से शुरू होकर सिविक सेंटर तक जाएगी और सिविक सेंटर पर धरना कर रहे कर्मचारियों के साथ हमारे समस्त निगम पार्षद भी धरना प्रदर्शन करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here