नई दिल्ली : दिल्ली सरकार आज (रविवार) डेंगू के खिलाफ ‘10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट, हर रविवार डेंगू पर वार’ महा अभियान की शुरूआत करेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज सुबह 10 बजे (6 सितंबर) अपने आवास पर साफ-सफाई करके इस अभियान की शुरूआत करेंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस अभियान के जरिए हम दिल्ली को डेंगू और चिकनगुनिया से हमेशा के लिए निजात दिलाना चाहते हैं। दिल्ली सरकार के सभी मंत्री, विधायक और अधिकारी भी हर रविवार को अपने घर में अभियान चलाएंगे। सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वासियों से सुबह 10 बजे, 10 मिनट, 10 हफ्ते के अभियान में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने की अपील की है, ताकि दिल्ली को डेंगू मुक्त बनाया जा सके।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस रविवार (6 सितंबर) से हम दिल्ली में डेंगू के खिलाफ अगले 10 हफ्ते तक चल चलने वाली लड़ाई शुरू कर रहे हैं। हर रविवार, सुबह 10 बजे, 10 मिनट के लिए हमें अपने-अपने घर पर यह देखना है कि कहीं साफ पानी इकट्ठा तो नहीं है। जैसे गमला, कूलर, फूलदान, इन सभी को अच्छे से चेक करना है। अगर कहीं पर भी पानी जमा हो, तो उसे उड़ेल दें या तेल या पेट्रोल डाल दें। हमें हर हाल में मच्छरों के पनपने से रोकना है। अगले दस हफ्तों तक हमें ऐसा ही करना है और डेंगू को हराना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2015 में जब दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी थी, उस दौरान दिल्ली में डेंगू के 15867 केस आए थे और करीब 60 लोगों की मौत हुई थी। हमने 2019 में 10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट का अभियान चलाया और परिणाम स्वरूप सिर्फ 2036 केस ही आए और मात्र 2 लोगों की मौत हुई।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इस साल भी डेंगू के खिलाफ अपनी लड़ाई में दिल्ली सरकार को सफलता हासिल करने पर जोर देते हुए कहा, “पिछले साल जब हमने 10 हफ्ते, 10 बाजे, 10 मिनट का अभियान शुरू किया था, तब हम दिल्लीवासियों और सरकारों के सामूहिक प्रयासों से डेंगू को हराने में सफल रहे थे। डेंगू के कारण मृत्यु दर नगण्य थी। इस साल भी दिल्ली सरकार मच्छरों के पनपने के खिलाफ अपने ‘10 हफ्ते, 10 बजे, 10 मिनट’ अभियान में दिल्लीवासियों को भागीदार बनाकर डेंगू से लड़ेगी”

दिल्ली सरकार ने दिल्ली के सभी लोगों से अपील किया है कि आपको हर रविवार को सुबह 10 बजे केवल 10 मिनट देने हैं। 10 मिनट से ज्यादा नहीं लगते। केवल आपको अपने घर की चेकिंग करनी है। डेंगू का मच्छर केवल साफ पानी में होता है। साफ पानी अगर थोड़े दिन के लिए इकट्ठा हो जाए और उसको बदला न जाए तो उस साफ पानी के अंदर डेंगू के अंडे पैदा होते हैं और वो अंडे 8 से 10 दिन के अंदर मच्छर में कन्वर्ट हो जाते हैं। अगर हम 8 दिन से पहले उस पानी को बदल दें और उस अंडे को नष्ट कर दें, तो मच्छर पैदा ही नहीं होगा।

हर साल डेंगू के सबसे ज्यादा मामले 1 सितंबर से 15 नवंबर के बीच आते हैं। इसलिए दिल्ली वालों को 10 हफ्ते, 10 मिनट देने हैं। एक तरह से 100 मिनट मांग रहे हैं। आपके 100 मिनट का मतलब पौने दो घंटे हैं। अपनी दिल्ली को डेंगू और चिकनगुनिया से बचाने के लिए पौने दो घंटे तो हर आदमी दे ही सकता है। ये मच्छर 200 मीटर से ज्यादा नहीं उड़ सकता। अगर आपके घर में डेंगू होता है तो आप ये मानकर चलें कि मच्छर आसपास ही पैदा हुआ है। अगर आप अपने घर की चेकिंग कर लें और सुनिश्चित कर लें कि आपके पड़ोसियों ने भी चेकिंग कर लिया है तो डेंगू और चिकनगुनिया से सुरक्षित रह सकते हैं।“

इस अभियान में दिल्ली के निवासियों, सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों और स्कूली बच्चों को शामिल किया जाएगा। पूरी उम्मीद है कि जिस तरह से पूरी दिल्ली के अंदर एक बहुत पॉजिटिव एनर्जी है, लोग सरकार के साथ भागीदारी कर रहे हैं, जिस तरह से सभी लोगों ने मिलकर ऑड-ईवन को सफल बनाया था, उसी तरह इस कैंपेन को भी सफल बनाएंगे और दिल्ली से डेंगू और चिकनगुनिया को भी भगाएंगे।

इस महा अभियान को इस तरह बनाया जाएगा सफल

– रविवार को 10 बजे, 10 मिनट, 10 हफ्ते अभियान की शुरूआत की जाएगी।

– दिल्ली में रहने वाले निवासी अपने दस दोस्तों व परिचितों को काॅल करेंगे और उन्हें इस अभियान में शामिल होने के लिए प्रेरित करेंगे।

– दिल्ली सरकार शहर की आरडब्ल्यूए को भी डेंगू के खिलाफ चलाए जा रहे 10 हफ्ते, 10 दिन, 10 मिनट अभियान में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित करेगी।

– सेलिब्रिटी और सोशल मीडिया पर प्रभाव रखने वाले लोग भी इस अभियान में हिस्सा लेंगे। वे अपने अनुभवों को रिकाॅर्ड करके विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर साझा करेंगे।

– दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढ़ने वाले सभी बच्चों को इस अभियान में हिस्सा लेने के लिए उन्हें होमवर्क दिया जाएगा। इसके साथ ही वो फोन के जरिए अपने दोस्तों को भी इस अभियान में शामिल होने के लिए प्रेरित करेंगे।

– पड़ोसी भी अपने आसपास रहने वाले लोगों को इस अभियान की विशेषता बताते हुए उन्हें इसमें बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए कहेंगे।

– अपने और आसपास के आॅफिस में काम करने वाले लोगों को अभियान में शामिल होकर इसे सफल बनाने के लिए कहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here