नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी ने वार्ड संख्या-80 के रामबाग रोड पर आज गिरी निर्माणाधीन बिल्डिंग के मलबे में दबकर हुई एसआई जाकिर हुसैन की मौत को हत्या बताते हुए स्थानीय पार्षद एवं नार्थ एमसीडी के मेयर जय प्रकाश के खिलाफ तत्काल रिपोर्ट दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी की मांग की है, आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि यह कोई हादसा नहीं है, बल्कि यह एक हत्या है, उन्होंने कहा कि मेयर जय प्रकाश की मिलीभगत से तीन मंजिला अवैध बिल्डिंग बनाई जा रही थी, दुर्गेश पाठक ने मांग की कि पुलिस इस घटना के जिम्मेदार जय प्रकाश की भूमिका की निष्पक्षता से जांच करे, उन्होंने दावा किया एमसीडी के स्थानीय पार्षद को एक-एक बिल्डिंग का पैसा जाता है और इस अवैध बिल्डिंग को बनाने के लिए मेयर जय प्रकाश को भी पैसे गए हैं, उन्होंने कहा कि बाला हिंदूराव पुलिस स्टेशन में तैनात एसआई जाकिर हुसैन और देबू सिंह स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर सुरक्षा के सत्यापन के लिए वहां पर गए थे, तभी यह हादसा हुआ.

पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने आज दिल्ली की सदर बाजार विधानसभा के वार्ड-80 में स्थित आजाद मार्केट, रामबाग रोड में हुई एक तीन मंजिला इमारत के गिरने की घटना में दिल्ली पुलिस के एसआई जाकिर हुसैन जी की मृत्यु एवं अन्य एक पुलिसकर्मी देबू सिंह जी के गंभीर रूप से घायल होने के लिए सीधे तौर पर वार्ड -80 से भाजपा के निगम पार्षद एवं उत्तरी नगर निगम के मेयर जयप्रकाश जी को दोषी ठहराया, दुर्गेश पाठक ने कहा कि यह जो इमारत बन रही थी, वह वार्ड 80 के रामबाग रोड पर बन रही थी और इस वार्ड से भाजपा के जयप्रकाश जी निगम पार्षद हैं और पूरा देश इस बात को जानता है कि भाजपा शासित नगर निगम में भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर पहुंच चुका है, कोई भी बिल्डिंग, कोई भी मकान, यहां तक कि एक झुग्गी भी भाजपा के निगम पार्षदों को रिश्वत दिए बिना नहीं बन सकती है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्होंने कहा, क्योंकि यह तीन मंजिला इमारत भाजपा के निगम पार्षद एवं मेयर जयप्रकाश जी के क्षेत्र में बन रही थी, तो यह संभव ही नहीं है कि उन्हें इसकी जानकारी न हो, दुर्गेश पाठक ने कहा कि मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ इस बात को कहता हूं कि यह तीन मंजिला इमारत जयप्रकाश जी की मिलीभगत और उनकी सहमति से बन रही थी, जो आज दिल्ली पुलिस के एसआई जाकिर हुसैन जी की मृत्यु का कारण बनी है,

दुर्गेश पाठक ने मेयर जयप्रकाश पर सीधे तौर पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह कोई हादसा नहीं है, यह सीधे तौर पर एसआई जाकिर हुसैन जी की हत्या की गई है और इस हत्या का सीधा आरोप भाजपा के निगम पार्षद एवं मेयर जयप्रकाश जी के सर पर है, उन्होंने मीडिया के माध्यम से यह मांग की कि तुरंत प्रभाव से इस हत्या के लिए भाजपा के मेयर जयप्रकाश जी पर एफआईआर दर्ज कर उनको गिरफ्तार किया जाए और उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा चलाया जाए.

प्रेस वार्ता में मौजूद सदर बाजार से आम आदमी पार्टी के विधायक सोमदत्त ने बताया कि विधानसभा के वार्ड 80, जहां से भाजपा के जयप्रकाश जी निगम पार्षद है और उत्तरी नगर निगम के मेयर भी हैं, उनके संरक्षण में बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण का काम चल रहा है, उन्होंने कहा कि बारिश के इन दिनों में निर्माण करना बेहद ही खतरनाक होता है, इसके बावजूद जयप्रकाश जी के वार्ड में बड़े पैमाने पर निर्माण का काम चल रहा है, उन्होंने कहा कि यह संभव ही नहीं है कि यह निर्माण का काम उनकी जानकारी के बिना चल रहा है, आज जो घटना हुई है, जिसमें दिल्ली पुलिस के एसआई जाकिर हुसैन जी की मृत्यु हो गई और एक अन्य पुलिसकर्मी देबू सिंह जी गंभीर रूप से घायल हो गए, यह इसी अवैध निर्माण का नतीजा है, इस घटना में भाजपा के निगम पार्षद एवं उत्तरी नगर निगम के मेयर जयप्रकाश जी की भूमिका की पूर्ण रूप से जांच होनी चाहिए और उनके खिलाफ जो भी मुकदमा बनता है, उसके तहत सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

एसआई जाकिर हुसैन जी दिल्ली की तिमारपुर विधानसभा क्षेत्र के रहने वाले थे, तिमारपुर से आम आदमी पार्टी के स्थानीय विधायक दिलीप पांडे को जैसे ही इस घटना की खबर मिली वह तुरंत जाकिर हुसैन जी के परिवार से अपनी संवेदना प्रकट करने पहुंचे, दिलीप पांडे ने परिवार से बात की और उन्हें इस बात का आश्वासन दिया कि आम आदमी पार्टी पूरी तरह से परिवार साथ खड़ी है, यह जो दुखद घटना हुई है, आम आदमी पार्टी इसकी पूरी तरह से जांच कराएगी और परिवार को जो भी संभव मदद होगी, वह आम आदमी पार्टी की ओर से दी जाएगी, ज्ञात रहे कि 15 अगस्त के चलते दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्थाओं को ध्यान में रखते हुए, एसआई जाकिर हुसैन जी एवं उनके साथी देबू सिंह जी, आजाद मार्केट रामबाग रोड क्षेत्र का दौरा कर रहे थे, दौरा करते हुए उन्होंने इस इमारत को बनते हुए जब देखा, तो इस इमारत के संबंध में जानकारी हासिल करने के लिए वह इमारत में पहुंचे, तो अचानक से यह तीन मंजिला इमारत भरभरा कर गिर गई, जिसमें एसआई जाकिर हुसैन की लगभग मौके पर ही मृत्यु हो गई और उनके साथी देबू सिंह जी गंभीर रूप से घायल हो गए.

रिपोर्ट सोर्स- पीटीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here