नई दिल्लीः  दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) ने किसान आंदोलन और पंजाबी समुदाय की बुजुर्ग महिलाओं के खिलाफ गलत भाषा का इस्तेमाल करने के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को कानूनी नोटिस भेजा है। डीएसजीएमसी ने कंगना से तुरंत सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने की भी मांग की है। उल्लेखनीय है कि कंगना ने एक ट्वीट के माध्यम से किसान आंदोलन और बुजुर्ग महिलाओं के खिलाफ गलत भाषा का इस्तेमाल किया था।

डीएसजीएमसी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने अपने वकील राज कमल के माध्यम से कंगना को भेजे कानूनी नोटिस में कहा, ” कंगना ने जानबूझकर किसानों, प्रदर्शनकारियों और कार्यकर्ताओं को बदनाम करने के लिये ट्वीट/रिट्वीट किये जबकि किसान आंदोलन के तहत किसान दिल्ली में शांतिपूर्वक रोष प्रदर्शन कर रहे हैं। कंगना ने अपने एक ट्वीट में एक फोटो भी साझा की थी जिसमें दो बुजुर्ग महिलायें थी। ट्वीट की भाषा बेहद आपत्तिजनक और असभ्य थी।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

इस ट्वीट में कंगना ने लिखा था कि दादी/बुजुर्ग महिला 100 रुपये में रोजाना मिलती है और यह भी कहा था कि यह भड़काऊ और प्रायोजित मुहिम है। हमारी मांग है कि कंगना एक हफ्ते में किसानों और बुजुर्ग महिलाओं से बिना शर्त माफी मांगे और स्पष्टीकरण देकर अपना टवीट/रिटवीट वापिस ले। अगर कंगना एक हफ्ते में माफी नहीं मांगती है तो दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी बिना किसी अन्य नोटिस के कंगना को कानून के अनुसार सजा दिलाने का प्रयास करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here