कपिल देव का कोरोना से निधन,देहरादून के कैलाश अस्पताल में थे भर्ती

हरिद्वार
कोरोना संक्रमण से निर्वाणी अखाड़ा के महामंडलेश्वर कपिल देव का आज (15 अप्रैल) निधन हो गया। महामंडलेश्वर उत्तराखंड के हरिद्वार में चल रहे कुंभ मेले में शामिल हुए थे। बताया जा रहा है कि कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें देहरादून के कैलाश अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। महाकुंभ के दौरान होने वाली यह किसी संत की पहली मौत बताई जा रही है।
इस बीच कोरोना महामारी के बीच महाकुंभ के आयोजन को लेकर लोग लगातार सवाल उठा रहे हैं। क्योंकि महामारी के बावजूद मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं आए हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना गाइडलाइन की पालन भी नही हो रहा है। आंकड़ों की बात करें तो हरिद्वार कुंभ मेले में बीते 72 घंटों में 1500 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। चिंता की बात यह है कि यह संख्या अभी और बढ़ सकती है। क्योंकि बड़ी संख्या में लिए गये सैम्पल्स की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।

तय समय पर ही समाप्त होगा मेला

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कोरोना महामारी को देखते हुए लोगों का कहना है कि कुंभ मेला निर्धारित समय 30 अप्रैल से पहले ही समाप्त कर दिया जाना चाहिए। लेकिन उत्तराखंड सरकार ने हरिद्वार कुंभ मेले की अवधि को घटाने से साफ मना कर दिया है। सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि मेला अवधि घटाने पर अभी कोई विचार नहीं है, न ही ऐसा कोई प्रस्ताव राज्य सरकार ने केंद्र को भेजा है। कुंभ 30 अप्रैल अपनी समय सीमा पर ही समाप्त होगा।


मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक हरिद्वार में जारी कुंभ मेला ऐसे ही चलता रहेगा। सोशल मीडिया पर उड़ रही समय से पहले कुंभ मेले को समाप्त करने की खबर का खंडन करते हुए मुख्यमंत्री कार्यालय ने इन खबरों को झूठा बताया है।

इससे पहले हरिद्वार के डीएम और कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने बताया था कि हरिद्वार कुंभ मेला अपनी निर्धारित अवधि यानी 30 अप्रैल तक बेरोकटोक चलेगा। उन्होंने कुंभ मेला अवधि में किसी भी तरह के फेरबदल की चर्चा से इनकार किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here