बरेली: बेटी के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज़ न करने पर पिता ने की ख़ुदकुशी

दरोगा ने फाड़ा सुसाइड नोट,हुआ बवाल

बरेली
उत्तर प्रदेश के जनपद बरेली में खाकी की लापरवाही के कारण एक दर्दनाक मामला सामने आया है। जहाँ एक किसान ने बेटी के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज़ न करने एवं दरोगा द्वारा अपमानित करने से आहत होकर पिता ने सुसाइड कर लिया। मृतक ने सुसाइड नोट भी लिखा,जिसे मौके पर पहुँचे दरोगा ने फाड़ दिया। जिसके बाद गांव वालों ने जमकर बवाल किया तथा पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट की।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ये था मामला

आवंला गांव के एक किसान की बेटी आठ अप्रैल अचानक गायब हो गई थी। गांव का ही एक युवक भी गायब था। बेटी भगाने के संदेह के साथ किसान ने आंवला थाने की चौकी रामनगर में तहरीर दी, लेकिन एफआइआर नहीं लिखी गई। आरोप है कि उन्हें अपमानित करके भगा दिया गया। बेटी के भागने का दुःख और दरोगा द्वारा अपमानित करने से किसान मायूस हो गया। सोमवार को किसान का शव रस्सी के सहारे लटका हुआ मिला। गांव के लोगों ने शव को नीचे उतारा। किसान के कपड़ों की जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला।


सुसाइड नोट में रामनगर के दरोगा पर रिश्वत मांगने तथा अभद्रता करने का आरोप लगाया गया था। पता चलने पर दरोगा मौके ने मौके पर पहुँच कर सुसाइड नोट को फाड़ दिया। इस पर ग्रामीणों ने उसे घेर कर बंधक बना लिया। दरोगा को छुड़ाने पहुंची पुलिस पर भी ग्रामीणों ने पथराव किया। पथराव में कुछ पुलिस कर्मी घायल हुए हैं।


मामले की सूचना मिलने पर सीओ के अलावा कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची।
एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल भी आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने पहुंचे, चौकी इंचार्ज पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। आंवला विधायक धर्मपाल सिंह मौके पर पहुंचे। तब जाकर ग्रामीण शांत हुए, लेकिन गांव में तनाव बना हुआ है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल का कहना है कि ग्रामीण अब शांत हैं। पूरे मामले की जांच के निर्देश दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here