नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी ने सेमीफाइनल कहे जा रहे एमसीडी उपचुनाव में धमाकेदार जीत दर्ज कर भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा साफ कर दिया। एमसीडी की पांच सीटों पर हुए उपचुनाव में आम आम आदमी पार्टी ने पांच में से चार सीटों पर कब्जा कर लिया।

अहम बात यह रही कि आम आदमी पार्टी ने शालीमार बाग की सीट भी भारतीय जनता पार्टी से छीन ली। इसके अलावा, रोहिणी सीट को भी अपने खाते में डाल लिया है। इससे पहले रोहिणी सीट निर्दलीय के पास थी। आम आदमी पार्टी के धमाकेदार प्रदर्शन पर राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली के लोगों ने एक बार फिर काम के नाम पर वोट दिया।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

एमसीडी में 15 साल के भाजपा के कुशासन से जनता परेशान हो चुकी है और लोग अब एमसीडी में भी आम आदमी पार्टी की सरकार बनाने को बेताब हैं। अब पूरे देश में दिल्ली के अंदर शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली और पानी समेत अन्य क्षेत्रों में हुए काम की चर्चा हो रही है।

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि जनता ने अरविंद केजरीवाल की 6 साल की राजनीति पर भरोसा जताया है और भाजपा की 15 साल की राजनीति का सूपड़ा साफ किया है। एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि एमसीडी उप चुनाव के परिणाम अगले साल होने वाले एमसीडी चुनाव को लेकर जनता का मूड बता रहे हैं।

गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली वालों को बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने पहली बार भाजपा को जीरो कर दिया है।

आम आदमी पार्टी ने एमसीडी उपचुनाव में वार्ड शालीमार बाग नॉर्थ 62एन से सुनीता मिश्रा, 18 ब्लॉक कल्याणपुरी वार्ड से धीरेंद्र उर्फ बंटी गौतम, वार्ड सीलमपुर 41ई से मोहम्मद इशराक खान, वार्ड त्रिलोकपुरी ईस्ट 8ई से विजय कुमार और वार्ड रोहिणी सी 32एन से राम चंद्र को प्रत्याशी बनाया था।

पांचों सीटों पर हुए मतदान की आज सुबह मतगणना हुई। आम आदमी पार्टी शुरूआती दौर से ही चार सीटों पर भाजपा के प्रत्याशियों से आगे रही और दोपहर होते-होते चारों प्रत्याशियों ने जीत दर्ज कर ली।

जिसके बाद आम आदमी पार्टी कार्यालय पर कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़े बजाकर जमकर जश्न मनाया गया। कार्यकर्ताओं ने एक-दूसरे को जीत की बधाई दी। इस दौरान अरविंद केजरीवाल समेत सभी बड़े नेता पार्टी मुख्यालय पहुंचे और कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए उनका हौसला बढ़ाया।

मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली की जनता ने एमसीडी उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा साफ किया है। इससे यह बात साफ हो गई है कि एमसीडी में भारतीय जनता पार्टी के 15 साल के शासन से अब दिल्ली की जनता बहुत तंग आ चुकी है और अब चाहती है कि पूरी तरह से झाड़ू लगाकर बीजेपी को नगर निगम से साफ कर दिया जाए।

यह चुनाव इस बात का संकेत है कि जनता क्या चाहती है? जब अगले साल नगर निगम के चुनाव होंगे, तब भी यही स्थिति होगी। भारतीय जनता पार्टी का पूरी तरह से सूपड़ा साफ होगा और आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल के काम करने वाली राजनीति की जीत होगी। उपचुनाव में 5 में से 4 सीटें मिलना, यह बहुत बड़ी बात है।

मैं सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को बहुत-बहुत बधाई देता हूं और दिल्ली के सभी मतदाताओं को बहुत-बहुत बधाई देता हूं कि उन्होंने अरविंद केजरीवाल की राजनीति पर अपना भरोसा जताया है।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से लोगों ने 5 में से 4 सीटें देकर अरविंद केजरीवाल की 6 साल की राजनीति पर भरोसा जताया है और भारतीय जनता पार्टी की 15 साल की राजनीति का सूपड़ा साफ किया है, जनता का यह एक बहुत बड़ा संदेश है।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की राजनीति पर दिल्ली की जनता भरोसा करती है। यह जो एमसीडी के पांच सीटों पर उपचुनाव हुए, इस पर भाजपा की तरफ से कहा गया था कि यह सेमीफाइनल है।

आज दिल्ली की जनता ने बता दिया कि यह उपचुनाव सेमीफाइनल था, तो फाइनल नतीजा क्या होगा? यह भी जनता ने बता दिया। आम आदमी पार्टी ने यह साबित किया है कि भाजपा का सूपड़ा साफ हो सकता है और भाजपा को भी कांग्रेस की तरह जीरो सीट पर लाया जा सकता है।

डिप्टी सीएम ने उपचुनाव जीतने वाले चारों पार्षदों को बधाई देते हुए कहा कि आपके पास एक साल का समय है। आप सभी ऐसा काम करें कि जब आप एक साल बाद लोगों के बीच वोट मांगने जाएं, तो लोग कहें कि आपको तो एक साल पहले ही हमने चुन लिया था, अब आपको वोट मांगने की जरूरत नहीं है।

दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री एंव वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने कहा कि भाजपा वाले सुनने के लिए तैयार नहीं हैं। वे केवल एक घमंड में हैं कि हम चुनाव जीतेंगे। भारत के इतिहास में भाजपा ने जिस तरह से सड़क पर कील की पट्टियां बिछाईं, वैसी अंग्रेजों के राज में भी नहीं बिछाई गईं थीं।

भाजपा को सिर्फ एक घमंड है कि चाहे हम कुछ भी करें, चाहे हम कचरा फैलाएं, दंगे करवाएं, मजदूरों पर लाठियां चलवाएं और चाहे हम किसानों की बातों को अनसुनी कर दें, लेकिन चुनाव हम ही जीतेंगे।

दिल्ली वालों को बधाई देना चाहता हूं कि आपने पहली बार भाजपा को जीरो कर दिया है। उन्होंने कहा कि जो अहंकार में घूम रहे हैं, वे सुन लें कि जनता के हाथ में ताकत है और भाजपा देश में भी जीरो हो सकती है।

देश के प्रधानमंत्री और भाजपा नेताओं से कहना चाहता हूं कि दिल्ली की जनता ने एमसीडी के सेमीफाइनल में जो संदेश दिया है, वह इस बात का भी संदेश है कि हमारे किसानों की मांग को सुनो। अहंकार जितना बड़ा करोगे, जनता की तरफ से उतना ही बड़ा जवाब मिलेगा।

दुर्गेश पाठक ने कहा कि पांच सीटों पर उपचुनाव कराए गए, जिनमें से चार सीटों पर आम आदमी पार्टी को जीत मिली है। यह एक बहुत महत्वपूर्ण परिणाम है, क्योंकि अगले साल एमसीडी चुनावों के लिए इसे ‘सेमीफाइनल’ करार दिया गया था।

भारतीय जनता पार्टी ने पिछले 15 साल से नगर निगम पर कब्जा कर रखा है। इन 15 वर्षों में एमसीडी और दिल्ली की जनता को इन्होंने सिर्फ लूटा है। हम बार-बार सुनते हैं कि एमसीडी कर्मचारियों के वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है।

इसके अलावा, पूरी दिल्ली में गंदगी है, जगह-जगह कूड़ा पडा है और एमसीडी में खराब माहौल है। इसके बिल्कुल विपरीत हम अरविंद केजरीवाल सरकार के कार्यों को देखते हैं तो केजरीवाल सरकार ने स्वास्थ्य, शिक्षा, मुफ्त पानी और बिजली के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य किए हैं।

एमसीडी उप चुनाव के परिणाम अगले साल होने वाले एमसीडी चुनाव को लेकर जनता का मूड बता रहे हैं।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हमने चुनाव में सबसे बड़ी बात यह देखी कि दिल्ली की जनता को दो लोगों के उपर भरोसा है। सिर्फ दो ही चीजें हैं, जिस पर दिल्ली की जनता को पिछले सात साल से भरोसा है। एक- हमारे कार्यकर्ता हैं। हमारे कार्यकर्ताओं पर लोगों को पूरा भरोसा है।

जब आम आदमी पार्टी की टोपी लगाकर हमारा कार्यकर्ता घूमता है और लोगों के घर में जाकर अपनी बात रखता है, तो लोग उसकी बात का यकीन करते हैं। दूसरी बात, हमारे पास तुरूप का इक्का है।

अरविंद केजरीवाल के मुंह से निकली हुई बात सब लोग मानते हैं। सौं चीजें हो सकती हैं, लेकिन अगर अरविंद केजरीवाल मैदान में उतरते हैं, क्षेत्र में जबरदस्त नकारात्मकता हो, फिर भी अगर अरविंद केजरीवाल अपना रोड शो करते हैं, तो हर बच्चा, बूढ़ा, महिलाएं उन्हें देखने के लिए निकलती है।

आम आमदी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि ‘आप’ ने निर्णायक सेमीफाइनल जीत लिया है। 2022 में एमसीडी के फाइनल में जाने में लगभग एक वर्ष है।

एमसीडी में भाजपा के 15 साल के भ्रष्टाचार-विरोधी शासन को समाप्त करने का दिल्लीवासियों के लिए मौका है। राज्य सरकार में केजरीवाल, एमसीडी में केजरीवाल, फिर डबल इंजन की केजरीवाल सरकार चलेगी।

आतिशी ने कहा कि इस परिणाम ने हमें दिखाया है कि लोग तीनों नगर निकायों में अरविंद केजरीवाल की सरकार चाहते हैं। आम आदमी पार्टी के चार पार्षद आज चुनाव जीत गए हैं। अब वे अपने वार्डों को मॉडल वार्ड बनाने की दिशा में काम करेंगे। अरविंद केजरीवाल के काम को लोगों के बीच कोई परिचय की आवश्यकता नहीं है।

हर महीने उनके पानी-बिजली के जीरो बिल, बस में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा, अन्य चीजों के साथ उन तक यह बात पहुंचती है। दिल्ली को एक विश्वस्तरीय शहर बनाने का सपना अब लोगों का सपना है।

जनता आम आदमी पार्टी के लिए सर्वसम्मति से मतदान करेगी और अरविंद केजरीवाल सरकार को तीनों नगर निगमों में लाएगी।

देशभर में आम आदमी पार्टी की जीत का परचम लहरा है। इससे स्पष्ट संदेश मिल रहा है कि देश की राष्ट्रीय राजनीति में बदलाव का आगाज हो चुका है और देश की जनता कके सामने आम आदमी पार्टी एकमात्र विकल्प बनकर सामने आई है।

आम आदमी पार्टी को 11 जिलों में जीत मिली है। विधायक से लेकर पार्षद तक के चुनावों में आम आदमी पार्टी ने धमाकेदार जीत दर्ज की है।

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 में 70 में से 62 सीटों पर कब्जा किया और लगातार तीसरी बार सरकार बनाई। इसके साथ ही दिल्ली नगर निगम में आम आदमी पार्टी के 50 से अधिक पार्षद हैं।

दिल्ली नगर निगम के उपचुनाव में भी ‘आप’ ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए पांच में से चार सीटें जीत ली। इसके अलावा आम आदमी पार्टी के 3 राज्यसभा सांसद उच्च सदन में हैं, जो जनता से जुड़े हर मुद्दे पर अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं। पंजाब राज्य में आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी दल है।

पंजाब की जनता ने आम आदमी पार्टी को 20 विधायक और एक लोकसभा सांसद दिया है। इसके अलावा पजाब में 62 पार्षद भी हैं। ठीक इसी तरह, उत्तर प्रदेश में 50 पार्षद, महाराष्ट्र में 145 ग्राम पंचायत सदस्य, हिमाचल प्रदेश में 36 ग्राम पंचायत सदस्य, गुजरात में 45 पार्षद, गोवा में एक जिला पंचायत सदस्य, जम्मू-कश्मीर में एक जिला विकास परिषद सदस्य, छत्तीसगढ़ में एक पार्षद, तेलंगाना में एक पार्षद, हरियाणा में एक नगर निगम सदस्य, कर्नाटक में 22 ग्राम पंचायत सदस्य हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here