नई दिल्ली : आज दिल्ली एमसीडी के अंदर 5 सीटों पर हुए उपचुनाव में आम आदमी पार्टी ने 4 सीटों पर शानदार जीत दर्ज कराई। दुर्गेश पाठक ने इस शानदार जीत पर जनता के स्नेह और विश्वास और अपने कार्यकर्ताओं की मेहनत के लिए सबका धन्यवाद किया।

उन्होंने कहा दिल्ली की जनता ने एमसीडी के पांचों वार्डों से भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा साफ कर दिया। यह जनता का विश्वास था, जिसकी बदौलत भाजपा ने तीनों बार बहुमत के साथ लगभग एकतरफा चुनाव जीता था। लेकिन भाजपा ने जनता के विश्वास को चूर-चूर कर दिया।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

भाजपा अपनी मुख्य ज़िम्मेदारी में फेल रही और दिल्ली को कूड़े और भ्रष्टाचार से बर्बाद कर दिया। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि उपचुनाव के जो नतीजे सामने आए हैं,

उनके आधार पर अब भाजपा को एमसीडी से इस्तीफा दे देना चाहिए। एक नया चुनाव हो, जिसमें दिल्ली की जनता भाजपा को एमसीडी से पूरी तरह से बाहर कर उसे अपने कर्मों का आईना दिखा सके।

दुर्गेश पाठक ने पार्टी मुख्यालय में बुधवार को प्रेस वार्ता को संबोधित किया। दुर्गेश पाठक ने कहा कि, आज दिल्ली एमसीडी के अंदर 5 सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे सामने आ चुके हैं, जिसमें दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी को अपार समर्थन दिया है।

आम आदमी पार्टी ने 5 में से 4 सीटें जीत ली है, जिसके लिए मैं दिल्ली की जनता का दिल से धन्यवाद करना चाहता हूं। इस उपचुनाव में सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि दिल्ली की जनता ने एमसीडी के पांचों वार्डों से भारतीय जनता पार्टी का सूपड़ा साफ कर दिया और उनको लाकर अंडे पर बिठा दिया।

मैं इस चुनाव की सफलता के किए आम आदमी पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को, संगठन के सभी साथियों को, जिला अध्यक्ष को, लोकसभा इंचार्ज और सभी अधिकारियों को हार्दिक बधाई देता हूं और उनकी कड़ी मेहनत के लिए धन्यवाद करता हूं। इन सभी लोगों ने उपचुनाव की तैयारी और प्रचार में दिन-रात एक कर दिए।

दुर्गेश पाठक ने कहा, दिल्ली की जनता ने भारतीय जनता पार्टी को एमसीडी में तीन बार बंपर बहुमत के साथ जिताया था। यह जनता का विश्वास था, जिसकी बदौलत भाजपा ने तीनों बार बहुमत के साथ लगभग एकतरफा चुनाव जीता था।

भारतीय जनता पार्टी पिछले 15 सालों से एमसीडी के अंदर शासन में है। इस दौरान उन्होंने दिल्ली को पूरी तरीके से बर्बाद कर दिया। एक तरफ एमसीडी कंगाल होती चली गई तो दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के पार्षद और नेता दिन प्रतिदिन अमीर होते चले गए।

भाजपा की मुख्य ज़िम्मेदारी दिल्ली की स्वच्छता सुनिश्चित करना है, दिल्ली को साफ सुथरा रखना है। लेकिन आज दिल्ली के अंदर एक भी गली नहीं है जो साफ हो। यहां तक कि खुद भाजपा के वीआईपी और बड़े नेता जैसे की आदेश गुप्ता जो भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष हैं, उनकी गलियां तक साफ नहीं है।

भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली को कूड़ा-कूड़ा कर दिया है, हर गली हर चौराहे पर आपको सिर्फ और सिर्फ कूड़े का ढेर मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी के सर्वे में, जो पिछले महीने कुल 48 शहरों के बीच कराया गया था कि कौन सा शहर कितना साफ है, दिल्ली का स्थान 47वें नंबर पर आया था।

इसी से अंदाजा लगाया जा सकता की भाजपा ने दिल्ली का कितना बुरा हाल कर दिया है। भाजपा के राज में भ्रष्टाचार भी अपने चरम सीमा पर पहुंच गया, जिधर देखो उधर भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार। भाजपा के भ्रष्टाचार ने उनके कर्मचारियों तक को नहीं छोड़ा। भाजपा के पास अपने कर्मचारियों को तनख्वाह देने के लिए भी पैसे नहीं रहे।

पिछले 8 से 9 महीनों से कर्मचारियों को पैसा नहीं मिला। सभी कर्मचारी कभी जंतर-मंतर तो कभी रामलीला मैदान में हड़ताल कर रहे हैं, उन्हें अपने ही पैसों के लिए लाठियां खानी पड़ रही हैं। जब भाजपा से पूछो तो वह हर बार मुंह फैला कर पैसा दो पैसा दो कहते रहते हैं।

उन्होंने होर्डिंग लगवाए, जिसमें उन्होंने दिल्ली सरकार से 13 हजार करोड़ रुपए की मांग की। भाजपा के कुएं में कितना भी पैसा डाल दो कम ही है। यह सभी चीजें देखकर दिल्ली की जनता के मन में भाजपा के लिए एक नफरत पैदा हो गई है।

उपचुनाव में आप की जीत और भाजपा की बुरी हार पर दुर्गेश पाठक ने कहा, उपचुनाव में दिल्ली की जनता ने जिस हिसाब से मतदान किया और सभी वार्डों के अंदर जो मार्जिन देखा गया है, उससे दिल्ली की जनता के अंदर भाजपा के खिलाफ नफरत साफ देखी जा सकती है।

आज उपचुनाव के नतीजों के आधार पर एक चीज कह सकता हूं कि भारतीय जनता पार्टी के ऊपर दिल्ली की जनता का जो विश्वास था, वह पूरी तरह से खत्म हो गया है। लोकतंत्र में जनता से बड़ी कोई ताकत नहीं है और जनता की यह ताकत चुनाव के दौरान साफ देखने को मिलती है।

अगर जनता ने आज भाजपा के ऊपर से अपना विश्वास हटाया है, ज़ीरो सीटों के साथ भाजपा का दिल्ली के अंदर सूपड़ा साफ कर दिया है, तो इसका मतलब है कि भाजपा जनता की अदालत में फेल हो चुकी है। अब एमसीडी में बने रहने के लिए भाजपा के पास न तो नैतिक ताकत है और न जानता का साथ है।

आम आदमी पार्टी मांग करती है कि उपचुनाव के जो नतीजे सामने आए हैं, उनके आधार पर अब भाजपा को एमसीडी से इस्तीफा दे देना चाहिए। दिल्ली की जनता एमसीडी से भारतीय जनता पार्टी को भगाना चाहती है इसलिए नया चुनाव हो, जिसमें दिल्ली की जनता भारतीय जनता पार्टी को एमसीडी से पूरी तरह से बाहर कर उसे अपने कर्मों का आईना दिखा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here