नई दिल्ली : अमित शाह असम के दौरे पर पहुंचे हैं, दो दिवसीय दौरे पर अमित शाह गुवाहाटी पहुंचे, यहां उन्होंने असम में विकास कार्यों की बात की, उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के विकास के बगैर भारत का विकास नहीं होगा.

अमित शाह ने राज्य में अस्पताल, कॉलेज समेत कई विकासकार्यों की आधारशिला रखी, साथ ही उन्होंने 8000 नामघरों को आर्थिक सहायता देने की बात कही, अब 2,5 लाख रुपए की मदद हर नामघर को दी जाएगी, गौरतलब है कि आगामी 2021 में असम में भी विधानसभा चुनाव होने हैं.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

अमित शाह ने कहा कि असम को इन 6 साल के अंदर हमने कभी पराया नहीं समझा, असम को दिल्ली ने प्राथमिकता दी है, नार्थ ईस्ट को प्राथमिकता दी है, उन्होंने कहा कि हर योजना का फायदा असम और यहां की जनता को पहुंचे इसका प्रयास हमने किया है.

अमित शाह ने गुवाहाटी में विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा है, उन्होंने कहा ‘चुनाव का मौसम आने वाला है, फिर से ये अलगाववाद की बात करने वाले चेहरा और रंगरूप सब बदलकर लोगों के बीच मे आएंगे, हमें उल्टा सुलटा समझाएंगे.

आंदोलन की दिशा में ले जाएंगे,’ शाह ने कहा ‘मैं उन सबसे आज पूछना चाहता हूं कि क्या दिया आपने असम के लोगों को आंदोलन करके, कोई विकास कार्य नहीं हुआ, अगर हुआ तो केवल असम के युवाओं को शहीद करने का काम हुआ.’

अमित शाह ने कहा कि राज्य में में केवल दो समस्याएं हैं, एक घुसपैठ और दूसरा बाढ़, ये दोनों समस्याएं बीजेपी की डबल इंजन वाली सरकार ही दूर कर सकती है, शाह ने 2020 में असम में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत का दावा किया है.

इसके अलावा उन्होंने राज्य में कोविड-19 नियंत्रण की भी तारीफ की अमित शाह ने कहा ‘मुझे ये कहते हुए खुशी हो रही है कि देश मे कोरोना का सामना करने में असम सबसे ऊपर के राज्यों में रहा है, टेस्टिंग के मामले में ये आगे रहा, यहां मृत्यु दर भी ,47 % रही.’

अमित शाह ने राज्य में कई विकास कार्यों का ऐलान किया है, उन्होंने बताया कि आज राज्य के अंतर्गत 11 विधि कॉलेजों की स्थापना की आधारशिला रखी गई है, उन्होंने इस दौरान पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई का भी जिक्र किया,

अमित शाह ने कहा ‘असम ने इस देश को गोगोई साहब के रूप में CJI देने का काम किया है,’ उन्होंने कहा ‘मोदी जी ने 2013 के चुनाव अभियान में कहा था कि जब तक पूर्वी भारत विकसित नहीं होता,

भारत का विकास असंभव है, 2014 में देश की जनता ने मोदी को पीएम बनाया, मोदी के जो शब्द थें, उसको उन्होंने चरितार्थ किया है.

गृहमंत्री ने यहां राज्यों में हिंसा पर भी बात की, उन्होंने कहा ‘एक जमाने में यहां के सारे राज्यों में अलगाववादी अपना एजेंडा चलाते थे, युवाओं के हाथों में बंदूक पकड़ाते थे.

अमित शाह ने कहा ‘आज वो सभी संगठन मुख्य प्रवाह में शामिल हो गए हैं और आज युवा अपने नए स्टार्टअप के साथ विश्व भर के युवा के साथ स्पर्धा करके अपने अष्टलक्ष्मी को भारत की अष्टलक्ष्मी बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here