नयी दिल्लीः कांग्रेस ने कहा है कि सरकार किसानों के धैर्य की परीक्षा ले रही है लेकिन उसे सोचना चाहिए कि यह समय परीक्षा लेने का नहीं बल्कि किसानों की समस्या का समाधान कर सबको साथ लेकर चलने का है। कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि सरकार किसानों के मुद्दे पर हठधर्मिता अपना रही है तथा किसानों की बात सुनने की बजाय अपनी बात पर अड़ गयी है और उसे मनवाने के लिए किसानों को बांटने की नीति पर काम रही है।

उन्होंने कहा कि किसानों को बांटने की बजाय सरकार को संयमपूर्वक उनकी बात सुननी चाहिए और उनके धैर्य को चुनौती नहीं देनी चाहिए। उनका कहना था कि यह समय धैर्य की परीक्षा लेने का नहीं बल्कि सबको साथ लेकर के चलने और किसानों के आंदोलन को समाप्त करने के लिए कदम उठाने का है। कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार को खुले मन से किसानों की बात सुननी चाहिए और उनकी मांगों को ध्यान से सुन कर समाधान करना चाहिए। उसे अड़ियल रुख छोड़कर तीनों कानून वापस लेकर किसानों की बात मान लेनी चाहिए।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन करने संबंधी एक सवाल पर उन्होंने स्वीकार किया कि बंद से देश के आम लोगों को दिक्कत होगी लेकिन सभी को किसानों की समस्या को समझना चाहिए और अन्नदाता का सहयोग कर भारत बंद का समर्थन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस तरह से राष्ट्रीय सुरक्षा को भाड़े के सैनिकों के हवाले नहीं किया जा सकता उसी तरह से देश की खाद्य सुरक्षा को भाड़े के किसानों के भरोसे नहीं रखा जा सकता है, इसलिए किसानों के हितों पर सरकार को ध्यान देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here