नई दिल्ली : मुख्यमंत्री केजरीवाल आज सुबह केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ सिंधु बाॅर्डर पर धरने पर बैठे किसानों के बीच पहुंचे। मुख्यमंत्री के साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, कैबिनेट मंत्री सतेंद्र जैन, राजेंद्र पाल गौतम और इमरान हुसैन भी सिंधु बाॅर्डर पर पहुंचे और किसानों का समर्थन करते हुए उनका हौसला बढ़ाया।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सिंधु बाॅर्डर पर स्थित गुरु तेग बहादुर मेमोरियल में किसानों से मुलाकात की और उनके लिए की गई व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं यहां पर एक मुख्यमंत्री के तौर पर नहीं आया हूं, बल्कि यहां एक सेवादार के तौर पर आया हूं।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

हम सभी किसानों की सेवा में उनके साथ खड़े हैं। मैं आज यहां पर दौरा कर सभी जरूरी सुविधाओं का जायजा लेने के लिए आया हूं।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने सिंधु बाॅर्डर पर किसानों से मुलाकात के बाद मीडिया से कहा कि हमारी सरकार, हमारे मंत्रीगण, हमारे विधायक, मेरी पार्टी के सभी कार्यकर्ता और मैं खुद सेवादार की तरह किसानों की सेवा करने में लगे हुए हैं। आज भी मैं यहां पर मुख्यमंत्री के तौर पर नहीं आया हूं।

मैं यहां पर एक सेवादार के तौर पर आया हूं। यहां पर मैं किसानों की सेवा करने के लिए आया हुआ हूं। किसान 24 घंटे मेहनत करके, अपना खून-पसीना बहा करके हमारे के लिए हमारी सेवा कर रहे हैं।

आज किसान मुसीबत में हैं। हम सबका और पूरे देशवासियों को फर्ज है कि किसानों के साथ खड़े हों और उनकी सेवा करें। मैं यहां पर आज दौरा करके सभी जरूरी सुविधाओं का जायजा लेने के लिए आया हूं।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि किसानों के लिए यहां पर शौचालय की व्यवस्था की गई है। इसकी साफ-सफाई ठीक है। दूसरी तरफ, पानी की व्यवस्था की गई है। किसान बता रहे हैं कि अंदर तक पानी नहीं जा पा रहा है, तो आज मोटर और पाइप लगा कर पानी को अंदर तक लेकर जाएंगे।

धरनारत किसानों के रहने की व्यवस्था भी देखी है, जो सही है। साथ ही किचन आदि की व्यवस्था भी ठीक है। दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार के इंतजामों से किसान पूरी तरह से संतुष्ट हैं। मैं किसानों के लगातार संपर्क में हूं। हमारे वरिष्ठ नेता एवं विधायक जरनैल सिंह यहां पर लगातार बने हुए हैं।

किसानों के समर्थन में कल रात वे यहीं पर रहे और उनके साथ ही रात में सोए। हमारे सभी वालेंटियर्स, कार्यकर्ता और अधिकारी किसानों की सेवा में लगे हुए हैं। मैं उम्मीद करता हूं कि इस समस्या का जल्द से जल्द समाधान हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here