नई दिल्ली : सीएम ममता ने कूचबिहार के सितलकुची में गोलीबारी को लेकर अमित शाह का इस्तीफा मांगा है, साथ ही ममता ने लोगों से शांत रहने की अपील की और सीआरपीएफ पर सीतलकूची में मतदाताओं पर गोलियां चलाने का आरोप लगाया.

हालांकि सीआरपीएफ ने साफ कर दिया है कि कूचबिहार के सीतलकुची में बूथ संख्या-126 के बाहर ना तो सीआरपीएफ की तैनाती थी और ना ही वो इस घटना में किसी तरह से शामिल है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

सीएम ममता ने कहा कि राज्य विधानसभा के चौथे चरण के मतदान के दौरान कूचबिहार जिले के सीतलकूची में केंद्रीय बलों की गोलीबारी में लोगों की जानें क्यों गईं, उन्होंने दावा किया कि केंद्रीय बलों के ‘अत्याचार’ को देखकर उन्हें काफी समय से ऐसा कुछ होने की आशंका थी.

सीएम ममता ने कहा इतने लोगों को मारने के बाद वे (निर्वाचन आयोग) कह रहे हैं कि आत्मरक्षा में गोलीबारी की गई, उन्हें शर्म आनी चाहिए, यह एक झूठ है, सीआरपीएफ ने मतदान के लिए पंक्ति में खड़े लोगों पर गोलीबारी की और सीतलकूची में चार लोगों को मार दिया.

मुझे इस बात की लंबे समय से आशंका थी कि बल इस प्रकार की कार्रवाई करेंगे, बीजेपी जानती है कि उसने लोगों का जनाधार खो दिया है, इसलिए वह लोगों को मारने का षड्यंत्र रच रही है.

सीएम ममता ने कहा बहरहाल, मैं सभी से शांत रहने और शांतिपूर्ण रूप से मतदान करने की अपील करूंगी, उन्हें हराकर मौत का बदला लें, इस चुनाव में मारे गए लोगों की संख्या तीन साल पहले हुए पंचायत चुनाव से कहीं अधिक है.

सीएम ममता ने कहा यदि आप चुनाव की शुरूआत होने से ले कर अब तक मारे गए लोगों की कुल संख्या की गिनती करें, तो करीब 17-18 लोग मारे जा चुके हैं, कम से कम 12 लोग केवल हमारी पार्टी के थे.

निर्वाचन आयोग को आज हुई घटना को लेकर लोगों को स्पष्टीकरण देना चाहिए, हम प्रशासन के प्रभारी नहीं हैं, आयोग प्रशासन का प्रभारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here