नई दिल्ली : देश में कोविड-19 की दूसरी लहर से हालात खराब होते जा रहे हैं, देश में अब तक करीब 1,21 करोड़ लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं, करीब 1,14 करोड़ ठीक हो चुके हैं.

1,62 लाख ने जान गंवाई है, 5,49 लाख का इलाज चल रहा है, रोजाना 50 हजार से ज्यादा आ रहे नए मामलों के मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों को आगाह किया है.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

इस बीच कई राज्यों ने अपने यहां कोविड-19 के नियमों में सख्ती बढ़ा दी है, सरकार ने राज्यों को कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और 100 फीसदी तक वैक्सीनेशन कवरेज करने को कहा है.

महाराष्ट्र कोविड-19 की सबसे ज्यादा मार झेल रहा है, कई जिलों में लॉकडाउन है, इस बीच उद्धव ठाकरे सरकार की ओर से कहा गया है कि पूरी तरह से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा, लेकिन नियम और सख्त किए जाएंगे.

कोविड-19 की चेन तोड़ने के लिए राज्य सरकार इसी सप्ताह बड़े फैसले ले सकती है, ऐसा बताया जा रहा है कि शॉपिंग मॉल्स, रेस्टोरेंट, सिनेमा हॉल जहां अधिक आवाजाही है उसको पूरी तरीके से बंद किया जा सकता है, लोकल ट्रेन भी अस्थायी तौर पर बंद किए जा सकते हैं.

उत्तराखंड सरकार ने भी कोविड-19 को लेकर सख्ती बढ़ा दी है, अब 1 अप्रैल से दिल्ली समेत 12 राज्यों से आने वाले लोगों को अपने साथ 72 घंटे की निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट भी साथ रखनी होगी.

1 अप्रैल से हरिद्वार कुंभ में भी उन्हीं लोगों को एंट्री दी जाएगी, जो 72 घंटे पहले की कोविड-19 आरटीपीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखाएंगे, इसके अलावा रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बॉर्डर की चौकियों पर रैंडम टेस्टिंग का आदेश दिया गया है.

पंजाब कोविड-19 की सबसे ज्यादा मार झेलने वाला दूसरा राज्य है, सीएम कैप्टन ने राज्य में पाबंदी 31 मार्च से बढ़ाकर 10 अप्रैल तक कर दी है, अब स्कूल-कॉलेज अगले 10 दिनों तक बंद रहेंगे, इसके साथ ही शॉपिंग मॉल्स में एक वक्त में 100 से अधिक व्यक्तियों को इजाजत नहीं होनी चाहिए, सिनेमाघरों को आधी सीटें खाली रखने को कहा गया है.

गुजरात सरकार ने चार शहरों में लागू रात का कर्फ्यू मंगलवार को और 15 दिन यानी 15 अप्रैल तक बढ़ा दिया, एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया है कि अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा और राजकोट में लागू रात का कर्फ्यू अब 15 अप्रैल तक रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक प्रभावी रहेगा.

सरकार ने जांच, संक्रमितों के संपर्क में आए व्यक्तियों का पता लगाने और इलाज के लिए दिशा-निर्देशों को लागू करने को भी 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया है.

मध्य प्रदेश में भी कोरोना केस लगातार बढ़ रहे हैं, ऐसे में सरकार ने क्लास वन से लेकर आठवीं तक के स्कूल एक अप्रैल से नहीं खोलने का फैसला किया है, सरकार ने फिर से स्कूलों को 15 अप्रैल तक बंद करने के निर्देश जारी किए हैं.

कोविड-19 संक्रमण की गंभीर हालत के चलते सरकार ने मध्य प्रदेश के 4 और शहरों में हर रविवार लॉकडाउन रखने का फैसला किया है, छिंदवाड़ा, खरगोन, रतलाम और बैतूल में अगले आदेश तक हर रविवार को टोटल लॉकडाउन रहेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here