नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं डीजेबी के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने एक बयान जारी कर कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार आने से पहले बारिश के हर मौसम में दिल्ली में जगह- जगह जल भराव की स्थिति उत्पन्न होती थी। जब से आम आदमी पार्टी की सरकार आई है, तब से आम आदमी पार्टी की सरकार ने मुस्तैदी से काम किया। इसके चलते पिछले 2-3 वर्षों से दिल्ली में जल भराव की जो भयावह स्थिति पैदा होती थी, उसमें बीते तीन साल में सुधार दिख रहा है।


उन्होंने कहा कि हर साल मार्च और अप्रैल के महीने में दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले नालों की सफाई हम कराते थे और मुझे लगता है कि नगर निगम भी मार्च- अप्रैल में अपने नालों की सफाई कराने का प्रयास करता होगा। इस साल, क्योंकि कोरोना महामारी इस देश पर और दुनिया पर धावा बोला, जिसके चलते बहुत से काम जो होने थे, वे रूक गए या उनकी गति कम हो गई। इसकी वजह से नालों और ड्रेन की साफ -सफाई नहीं हो पाई। जून में लाॅकडाउन समाप्त हुआ और स्थिति कुछ समान्य हुई। लोग काम पर लौटे। इसके बाद दिल्ली सरकार ने नालों की सफाई शुरू की और मुझे लगता है कि भाजपा शासित नगर निगम ने भी अपने अधीन आने वाले नालों की साफ-सफाई का प्रयास किया होगा।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

राघव चड्ढा ने कहा कि मिंटो ब्रिज पर जल भराव की सुबह जैसे ही तश्वीरें आईं, माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जी खुद लगातार ब्रिज की व्यक्तिगत निगरानी कर रहे हैं। वे इंजीनियर के संपर्क में हैं और पंपिंग मशीनें भेज दी गई और अब मिंटो ब्रिज को साफ कर दिया गया है। वहां से सारा पानी बाहर निकाल दिया गया है।

राघव चड्ढा ने कहा कि यह बड़ा दुर्भाग्य है कि इस महामारी के काल में भी, जहां आम आदमी पार्टी काम में विश्वास रखती है और कह रही है कि मार्च-अप्रैल में जिस मुस्तैदी से अपने-अपने नालों की साफ-सफाई करनी थी, शायद वह नहीं हो पाई, लेकिन अब हमें मिल कर साफ-सफाई करनी है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता गलत बयानबाजी कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं और मेयर का बयान हमने सुना। वे हम पर दोषारोपण कर रहे हैं और हम पर गलत टिप्पणियां कर रहे हैं।

राघव चड्ढा ने कहा कि हम भी चाहते तो राजनीति कर सकते थे और हम भी राजनैतिक बयान दे सकते हैं। क्या यह सबको नहीं पता है कि मिंटो ब्रिज जहां पर है, वह एनडीएमसी का इलाक है? एनडीएमसी तो केंद्र सरकार के अधीन आता है। मैं यह भी कह सकता था कि दिल्ली के अंदर सारी स्टान वाटर्स ड्रेन नगर निगम के अधीन आती है। उनसे दिल्ली सरकार का कोई लेना देना नहीं है। यह भी कह सकता था कि भारतीय जनता पार्टी की आॅफिस वहीं पर बन रहा है, उसकी वजह से ड्रेनेज सिस्टम ब्लाॅक हो रहे हैं, जो सच्चाई है। लेकिन मैं राजनीति नहीं करना चाहता। आम आदमी पार्टी तीखी टिप्पणी नहीं करना चाहती है और भारतीय जनता पार्टी को यह कहना चाहती है कि महामारी के काल में यदि मुस्तैदी के साथ आप लोग, जो आपके नाले- नालियां और ड्रेन हैं और हमारे जो नाले-नालियां और ड्रेनेज हैं, हम लोग मुस्तैदी से उसकी साफ सफाई और डिसेंटिंग नहीं कर पाए, तो अब हम मिल कर साफ करते हैं। अभी मानसून की शुरूआत हुई है। आने वाले समय मेूं इस प्रकार की चीज न हो, इसको हम देंखे, न कि एक-दुसरे पर तीखी टिप्पणी करें और दोषारोपण करें।

राघव चड्ढा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के तमाम नेताओं से अनुरोध करना चाहूंगा और बताना चाहूंगा कि माननीय मुख्यमंत्री जी खुद पूरे घटना क्रम पर अपनी नजर बनाए हुए हैं। उन्होंने खुद इंजीनियर के संपर्क में आने के बाद सारी मिंटो रोड की ड्रेनेज सिस्टम में जो फाल्ट था और जल भराव था, उसको साफ करा दिया है। आने वाले समय में सबको मिल कर काम करना है। भारतीय जनता पार्टी को लगता है कि आम आदमी पार्टी को, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी को भला-बुरा कह कर दिल्ली का ड्रेनेज सिस्टम साफ हो जाएगा या नगर निगम के नाले-नालियां खुद-ब-खुद साफ हो जाएंगी, तो रोज हमें गालियां दें।
जल भराव के कारण मिंटो रोड के नीचे एक व्यक्ति की मौत होने के संबंध में राघव चड्ढा ने कहा कि मैं किसी एजेंसी का नाम लूंगा, तो मुझ पर राजनीति करने का आरोप लगेगा। लोग खूब जानते हैं कि वाटर ड्रेन किसके अधीन आती हैं, वह इलाका एनडीएमसी में या किसके अधीन आता है, मैं इसमें नहीं जाना चाहते हैं। मैं फिर से सभी एजेंसियों से एक साथ काम करने का अनुरोध करना चाहता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here