नई दिल्ली : मुख्यमंत्री केजरीवाल ने आज आईपी एक्सटेंशन निवासी कोरोना योद्धा स्वर्गीय डॉ. हितेश गुप्ता के परिवार से मुलाकात की और उन्हें दिल्ली सरकार की तरफ से सहायता राशि के तौर पर एक करोड़ रुपए का चेक सौंपा।

सीएम ने कहा कि डाॅ. हितेश गुप्ता के निधन का हमें बहुत दुख है। हम उनके परिवार के साथ हैं और उनकी पत्नी को दिल्ली सरकार में नौकरी भी देंगे।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

कोरोना योद्धा स्वर्गीय डाॅ. हितेश गुप्ता के परिवार को सहायता राशि का चेक सौंपने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि डॉ. हितेश गुप्ता दिल्ली सरकार में एक डॉक्टर के तौर पर काम कर रहे थे और कोरोना काल के दौरान कोरोना मरीजों की सेवा कर रहे थे।

कोरोना के मरीजों के लिए काम करते हुए उन्हें भी कोरोना हो गया और इलाज के दौरान अस्पताल में उनका निधन हो गया। डाॅ. हितेश गुप्ता के निधन का हमें बहुत ही दुख और अफसोस है।

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि जितने भी कोरोना योद्धा हैं, उन लोगों को हौसला देने के लिए और उनकी मदद करने के लिए दिल्ली सरकार ने एक अनूठी योजना का ऐलान किया है। योजना के अनुसार, अगर हमारे किसी कोरोना योद्धा को काम करने के दौरान कोरोना हो जाता है और उसकी वजह से वे शहीद हो जाते हैं, तो हम उनके परिवार को एक करोड़ रुपए की सहायता राशि देकर मदद करेंगे।

उसी योजना के तहत, आज मैं डॉ. हितेश गुप्ता के परिवार से मिलने आया था और हमने परिवार से मिल कर यह सहयोग राशि का चेक सौंपा है।

सीएम ने कहा कि वैसे तो किसी की भी जान की कीमत नहीं होती है, लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि इस सहयोग राशि से डाॅ. हितेश गुप्ता के परिवार को मदद मिलेगी। डाॅ. हितेश गुप्ता की पत्नी काफी शिक्षित हैं।

हम उनकी पत्नी को दिल्ली सरकार में नौकरी भी देंगे। उसके बाद भी उनकी जो जरूरतें होंगी, हम लोग उन जरूरतों को पूरी करने की कोशिश करेंगे।

इस दौरान कोरोना योद्धा डॉ. हितेश गुप्ता की पत्नी सुरभि गुप्ता ने कहा कि मेरे पति की कोविड के दौरान कोरोना के संक्रमण से मौत हो गई थी, वह एक कोरोना योद्धा थे। मैं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का बहुत आभारी हूं।

इस दुख की घड़ी में मुख्यमंत्री जी ने हमारी हर स्तर पर मदद की और उन्होंने आगे भी मदद करने का वादा किया है। मैं इसके लिए मुख्यमंत्री जी का शुक्रिया करती हूं।

उल्लेखनीय है कि आईपी एक्सटेंशन निवासी डाॅ. हितेश गुप्ता कड़कड़डुमा डिस्पेंसरी में तैनात थे। कोरोना मरीजों की सेवा करने के दौरान वे भी इसकी चपेट में आ गए.

उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां 3 नवंबर 2020 को उनका निधन हो गया। उनके परिवार में पत्नी सुरभि गुप्ता, एक आठ साल की बेटी और वृद्ध सास हैं।

हमने केंद्र सरकार से पूरे देश के लोगों को मुफ्त में वैक्सीन देने की अपील की है, अगर केंद्र सरकार मुफ्त में वैक्सीन नहीं देती है और अगर जरूरत पड़ती है, तो हम दिल्ली के लोगों को मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध कराएंगे- अरविंद केजरीवाल

कोरोना वैक्सीन को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे खुशी है कि 16 जनवरी से दिल्ली में वैक्सीन लगनी चालू हो जाएगी। सबसे पहले कोरोना योद्धा, जो स्वास्थ्यकर्मी हैं, उनको वैक्सीन दी जाएगी, उसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन दी जाएगी।

मैं उम्मीद करता हूं कि पिछला एक साल जो बहुत ही तकलीफ में गुजरा है, वैक्सीन के आने से लोगों को राहत मिलेगी और कोरोना से सब लोगों को छुटकारा मिलेगा। मैं सभी लोगों से अपील करना चाहता हूं कि कोरोना वैक्सीन के बारे में कोई भ्रांति न फैलाई जाए।

मैं समझता हूं कि केंद्र सरकार ने और हमारे वैज्ञानिकों ने सभी प्रोटोकॉल्स और सुरक्षा से संबंधित सभी बचाव का अनुसरण किया है। उन सभी सेफगार्ड्स का अनुसरण करके यह दवाई लाई गई है। इसलिए किसी के मन में किसी तरह की कोई भी शंका नहीं होनी चाहिए।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि मैंने केंद्र सरकार से अपील की थी कि हमारा देश बहुत गरीब है। इस तरह की महामारी 100 साल में पहली बार आई है। इससे पहले 1918 में इस तरह की महामारी आई थी और अब 100 साल के बाद इस तरह की महामारी आई है।

बहुत सारे लोग हैं, जो हो सकता है कि इस दवा की कीमत देने में समर्थ न हों। इसलिए मेरी केंद्र सरकार से अपील थी कि पूरे देश में सभी लोगों को यह वैक्सीन मुफ्त उपलब्ध कराई जाए। हम देखते हैं कि केंद्र सरकार क्या करती है?

केंद्र सरकार अगर मुक्त वैक्सीन नहीं उपलब्ध कराती है और अगर दिल्ली के लोगों के लिए जरूरत पड़ती है, तो हम कम से कम दिल्ली के लोगों को मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध करवाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here