शमशाद रज़ा अंसारी

थाना विजयनगर क्षेत्र में नौसिखिए का कार चलाना दो वर्षीय बच्ची के अनाथ होने का कारण बन गया। नौसिखिए ने बच्ची के पिता सहित एक अन्य व्यक्ति को भी टक्कर मार दी। घायल व्यक्ति का एमएमजी में उपचार चल रहा है।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

प्रताप विहार विजयनगर ई-360 में सुरेन्द्र कुमार गुड्डू अपनी दो वर्षीय बच्ची तथा पिता के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी की कुछ समय पहले ही मृत्यु हो चुकी है। पत्नी की मृत्यु के बाद वह स्वयं अपनी दो वर्षीय बच्ची का लालन पालन कर रहे थे। गुरुवार को सुरेन्द्र कुमार अपने घर से पैदल दवा लेने के लिए निकले। उन्हें क्या पता था कि दवा के बहाने मौत उनके कदम घर से बाहर खींच लाई है। सुरेन्द्र कुमार जैसे ही घर से लगभग 50 मीटर दूरी पर पँहुचे तभी एक अनियंत्रित कार ने उन्हें ज़बरदस्त टक्कर मार दी। वहाँ से गुज़र रहे एक अन्य व्यक्ति ने कार को रोकने का प्रयास किया तो युवक ने कार रोकने की बजाये उस व्यक्ति को भी टक्कर मार दी।

दिन दहाड़े हुये इस हादसे के बाद मौके पर भीड़ जमा हो गयी। भीड़ ने युवक को दबोच लिया तथा कार में तोड़फोड़ करनी शुरू कर दी। तभी प्रताप विहार चौकी इंचार्ज राघवेंद्र प्रताप सिंह ने मौके पर पँहुच कर युवक को हिरासत में लिया और स्थिति को सम्भाला। घायल सुरेन्द्र को आलोकी अस्पताल ले जाया गया जहाँ उसकी मृत्यु हो गयी। दूसरे घायल व्यक्ति शंकर दत्त जोशी को जिला अस्पताल में रेफर कर दिया गया,जहाँ उनकी हालत ख़तरे से बाहर बताई गयी है।

टक्कर मारने वाले कार चालक चन्दन पुत्र राजेश ने बताया कि वह कार चलाना सीख रहा है। सीखने के दौरान कार अनियंत्रित हो गयी जिससे यह हादसा हो गया। चन्दन के पिता पुलिस में हैं तथा वर्तमान में जनपद बुलन्दशहर में तैनात हैं। राजेश बुलन्दशहर ड्यूटी पर जाने की तैयारी कर रहे थे तभी यह हादसा हो गया। हादसे की सूचना मिलने पर पँहुचे चन्दन के पिता राजेश के साथ भी भीड़ द्वारा अभद्रता की गयी।

सुरेन्द्र की मौत की की ख़बर सुनकर उसके घर में हाहाकार मच गया। दो वर्षीय मासूम बच्ची को ख़बर भी नही है कि वह यतीम हो चुकी है और उसकी माँ की तरह उसका पिता भी उसे छोड़ कर जा चुका है। बच्ची के लालन पालन की ज़िम्मेदारी अब बच्ची के दादा के बूढ़े कन्धों पर आ गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here