नई दिल्ली : सीएए और एनआरसी प्रर्दशन का चेहरा और शाहीन बाग की दादी बिल्किस बानो को सिंघु बॉर्डर पर दिल्‍ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

वह आज किसान आंदोलन का समर्थन करने सिंघु बॉर्डर पहुंची थीं, इससे पहले बिल्किस बानो ने कहा था कि हम किसानों की बेटियां हैं और हम आज किसानों के विरोध का समर्थन करेंगे, हम अपनी आवाज उठाएंगे, सरकार को हमारी बात सुननी चाहिए.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

ऐसा नहीं है कि बिल्किस दादी सीएए के विरोध में चले प्रदर्शन के दौरान केवल खास मौकों पर ही नजर आई थीं, वे सुबह से लेकर रात तक ही धरना देती दिखाई दी थीं, उन्होंने इस विरोध पर अंत समय तक बने रहने की बात की थी.

पत्रकार राणा अयूब ने अपने लेख में बिल्किस दादी का खास तौर से जिक्र किया है, उन्होंने बताया कैसे बिल्किस दादी दिल्ली की कड़कड़ाती ठंड में प्रदर्शन स्थल पर डटी रहीं और शाहीन बाग प्रदर्शन में लोगों की आवाज बन गईं.

इतना ही नहीं बिल्किस दादी के बयान भी कम चर्चा में रहे, प्रदर्शन के दौरान जब उनका नाम पूछा गया तो उन्होंने साफ कह दिया कि हम नाम नहीं बताएंगे क्योंकि उनके पास दस्तावेज नहीं हैं.

बिल्किस दादी के नाम से मशहूर बिल्किस बानो यूपी के बुलंदशहर की रहने वाली हैं, लेकिन वे फिलहाल अपने बच्चों के साथ दिल्ली में रह रही हैं, उनके पति खेती मजदूरी किया करते थे जो अब इस दुनिया में नहीं हैं.

यही नहीं, प्रदर्शन के दौरान बिल्किस दादी ने बताया था कि उन्होंने अपनी जिंदगी में कभी किसी राजनैतिक आंदोलन में भाग नहीं लिया था, इससे पहले वे केवल एक घरेलू महिला हुआ करती थीं.

उन्होंने पहले कभी अपना घर नहीं छोड़ा, लेकिन इस प्रदर्शन में उनका खाना सोना धरना स्थल पर ही होता था, उनका कहना था कि वे केवल कुछ समय के लिए कपड़े बदलने घर जाती थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here