नई दिल्‍ली : भारत के पास मंगलवार को तीन मैचों की वनडे सीरीज में क्‍लीन स्‍वीप से बचने का मौका है, भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच तीसरा वनडे कैनबरा में खेला जाएगा, पिछले दोनों मुकाबले सिडनी में खेले गए थे, जहां भारतीय गेंदबाज बेअसर साबित हुए.

तेज गेंदबाज जसप्रीत भी कोई खास कमाल नहीं कर पाए और इस वजह से उन्‍हें काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है, मोहम्‍मद शमी का भी जादू नहीं चल पाया, हालांकि पहले मैच में शमी बाकी गेंदबाजों की तुलना में बेहतर रहे थे.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उन्‍होंने तीन विकेट लेने के साथ ही 6 रन से कम की इकोनॉमी के साथ गेंदबाजी की, मगर दूसरे मैच में वह अपनी लय में नजर नहीं आए.

जिसका फायदा ऑस्‍ट्र्रलियाई बल्‍लेबाजों ने बखूबी उठाया और भारत के सामने 390 रनों का बड़ा लक्ष्‍य रख दिया, टीम के साथ साथ शमी की नजर भी अब कैनबरा में गेंद से अपना जादू दिखाने पर है.

पिछले कुछ सालों से शमी तीनों फॉर्मेट में लाजवाब प्रदर्शन कर रहे हैं, वह भारतीय टीम के पासा पलटने वाले गेंदबाज बन गए हैं, हालांकि इसके बावजूद शमी के कुछ रिकॉर्ड पर किसी का ध्‍यान नहीं जा पाया.

वह वनडे क्रिकेट में लगातार अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे हैं और अब शमी अजित अगरकर के 18 साल पुराने रिकॉर्ड को ध्‍वस्‍त करने से सिर्फ दो विकेट ही दूर हैं, 79 वनडे मैचों में शमी के नाम 148 विकेट है और कैनबरा में उनके पास सबसे तेज 150 विकेट लेने वाला भारतीय गेंदबाज बनने का मौका है.

शमी दो विकेट ले लेते हैं तो वह सबसे तेज 150 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज बनने के साथ ही ऐसा करने वाले मिचेल स्‍टार्क और सकलैन मुश्‍ताक के बाद दुनिया के तीसरे गेंदबाज भी बन जाएंगे.

स्‍टार्क ने 77 और मुश्‍ताक ने 79 मैचों में 150 विकेट पूरे किए थे, भले ही सबसे तेज 150 लेने वाले दुनिया के तीसरे गेंदबाज बनने का रास्‍ता शमी के लिए थोड़ा कठिन नजर आ रहा है.

मगर उन्‍हें भारतीय वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 150 विकेट लेने वाला रिकॉर्ड तोड़ने से कोई नहीं रोक सकता, दरअसल अगरकर ने 97 मैचों में 150 विकेट पूरे किए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here