नई दिल्ली : केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं, वहीं इस मसले पर अमित शाह PM मोदी से मिलने पहुंचे.

किसान संगठनों के साथ पांचवें की दौर की बैठक से पहले ये बड़ी मीटिंग हुई, इस बैठक में राजनाथ सिंह और नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद हैं, पीयूष गोयल भी इस बैठक में पहुंचे.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

PM मोदी के साथ किसान आंदोलन को लेकर अमित, राजनाथ, तोमर और पीयूष की बैठक करीब 11,40 बजे खत्म हो गई, यह बैठक करीब दो घंटे चली.

बैठक से पहले नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि आज दोपहर 2 बजे किसानों के साथ एक बैठक निर्धारित है, मुझे बहुत उम्मीद है कि किसान सकारात्मक सोचेंगे और अपना आंदोलन समाप्त करेंगे.

रामपाल जाट ने कहा कि सरकार को तीन काले कानूनों को वापस लेने की घोषणा करनी चाहिए और उसे लिखित में देना होगा कि एमएसपी जारी रहेगी.

अगर आज की वार्ता से कोई सकारात्मक नतीजा नहीं निकलता है, तो राजस्थान के किसान एनएच-8 के साथ दिल्ली की ओर मार्च करेंगे और जंतर मंतर पर डेरा डालेंगे.

बता दें कि किसान कृषि कानून वापस लेने की मांग पर अड़े हुए हैं, किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी पर ठोस भरोसा चाहते हैं.

मोदी सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की बात तो नहीं मान रही है लेकिन किसानों की कुछ ऐसी मांग हैं जिनपर वह राजी होती दिखाई दे रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here