बलिया (यूपी) : विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने किसानों से कहा कि तीनों नए कृषि कानून का समर्थन करने वाले नेताओं को अपने गांव में प्रवेश न करने दें.

गोविंद चौधरी ने कहा कि खेती बारी और किसानों को निगलने वाले कानूनों के समर्थन में खड़े नेताओं से राम-राम, प्रणाम और दुआ सलाम तथा हुक्का पानी बंद करें.

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

गांव में आने वाले सभी रास्तों पर यह नोटिस चिपका दें कि अंबानी-अडानी के एजेंटों का हमारे गांव में प्रवेश वर्जित है.

रामगोविंद चौधरी ने दावा किया कि अडानी और अंबानी के एजेंटों और उनके पेरोल पर जी रहे नेता किसानों में फूट डालने के लिए शासन प्रशासन की मदद से जगह-जगह सम्मेलन कर रहे हैं.

इसके साथ उन्होंने कहा कि इन एजेंटों से सावधान रहने की जरूरत है, इस सावधानी का सबसे आसान रास्ता है कि इनसे दूरी बनाकर रहें और इनका बहिष्कार करें.

गोविंद चौधरी ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार सभी सार्वजनिक उपक्रमों, दूर संचार, हवाई जहाज और रेल की तरह खेती बारी और किसानी को भी अंबानी व अडानी समूहों को सौंप देने पर आमादा है, इसके लिए वह रोज नया नया झूठ बोल रही है.

सपा ने किसान आंदोलन का खुलकर समर्थन कर रही है, इसके लिए वह न सिर्फ भारत बंद का हिस्‍सा बन चुकी है.

बल्कि किसानों के साथ मिलकर केंद्र सरकार और यूपी सरकार को घेरने में लगी हुई है, वहीं, भाजपा सरकार ने सपा और यूपी की अन्‍य पार्टियों पर किसान को बहकाने का आरोप लगाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here