शमशाद रज़ा अंसारी

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर जिले में एएचटीयू  ने 9 मानव तस्करों को गिरफ्तार किया है। मानव तस्करों के कब्जे से 20 नाबालिग बच्चों को भी छुड़ाया गया है। इन बच्चों को बस द्वारा बिहार के अररिया से दिल्ली भेजा जा रहा था। बरामद किये गये सभी बच्चे गरीब परिवार से हैं। बच्चों के परिजनों को पैसे का प्रलोभन दिया गया था।

देश दुनिया की अहम खबरें अब सीधे आप के स्मार्टफोन पर TheHindNews Android App

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में मानव तस्करी रोधी इकाई के निरीक्षक अजीत प्रताप सिंह ने बताया कि बचपन बचाओ आंदोलन की उत्तर प्रदेश इकाई के संयोजक सूर्य प्रताप मिश्रा ने सूचना दी थी कि कुछ मानव तस्कर कई बच्चों को बस के जरिए बिहार से दिल्ली ले जा रहे हैं। इस पर खोराबार थाना क्षेत्र के जगदीशपुर इलाके में पुलिस ने बिहार के मडापार कोनी तिराहे पर बस को रोका और सघन तलाशी ली। उन्होंने बताया कि बस में बैठे 20 बच्चों को मुक्त कराते हुए उन्हें ले जा रहे नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। बरामद किये गये 20 बच्चों में से 19 की उम्र 18 वर्ष से कम है। पकड़े गए लोगों में हाशिम, जाहिद, इश्तियाक, शमशाद, मुर्शिद, मारूफ, नूर हसन, शाहिद और हसीब शामिल हैं। सभी अभियुक्त अररिया निवासी हैं।

सिंह ने बताया कि पकड़े गए मानव तस्करों के खिलाफ भारतीय दंड विधान किशोर न्याय अधिनियम और बाल श्रम निरोधक कानून की सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर सोमवार को जेल भेज दिया गया। पुलिस अधीक्षक अपराध अशोक कुमार वर्मा ने बताया कि पकड़े गए लोगों से पूछताछ करके यह पता लगाया जा रहा है कि इन लोगों का नेटवर्क कहां-कहां तक फैला है। छुड़ाये गये बच्चों को चाइल्ड लाइन को सौंप दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here